मौसमी बुखार का ऐसे करें इलाज, अपनाएं यह तरीके

वायरल बुखार यानि कि मौसमी बुखार ये बुखार मौसम में आए बदलाव की वजह से होता है। वायरल फीवर बहुत तेजी से एक इंसान से दूसरे इंसान तक पहुंच जाता है जिससे यह बुखार एक साथ कई लोगों को हो जाता है। वायरल फीवर दूसरे बुखारों की तरह होता है लेकिन समय पर ध्यान न देने से यह बुखार खतरनाक रूप ले सकता है। हालांकि वायरल फीवर से बचने के लिए दुकान पर कई सारी दवाईयां उपलब्ध है लेकिन यदि आप घरेलू उपाय भी अपनाते हैं तो इससे जल्द ही राहत पा सकते हैं।

1. औषधिय गुणों से भरपूर मेथी वायरल फीवर के लिए रामबाण है। एक कप पानी में एक बड़ा चम्मच मेथी के दाने रात भर भिगोकर रखें। अगले दिन सुबह इसको छानकर निश्चित अंतराल में इसका सेवन करें।

2. एक गिलास पानी में एक बड़ा चम्मच धनिए के दाने डालें और उसको थोड़ा उबाल लें। उसके बाद कप में छानकर स्वादानुसार थोड़ा-सा दूध और चीनी डालकर पीने से बुखार से राहत मिलती है।

3. अठारह से बीस ताजा तुलसी के पत्तों को एक लीटर पानी में एक चम्मच लौंग पावडर डालकर तब तक उबालें जब तक कि वह सुख कर आधा न हो जाये। उसके बाद उसको छानकर हल्का ठंडा करके दो घंटे के अंतराल में पीएं।

4. सूखा अदरक, एक छोटा चम्मच हल्दी और एक छोटा चम्मच काली मिर्च का पावडर और थोड़ा-सा चीनी एक कप पानी में डालकर तब तक उबालें जब तक कि सुखकर आधा न हो जाये। अब इसे दिन में चार बार पीएं, आपको बुखार से राहत देगा।