कश्मीर में मानवाधिकार कार्यकर्ता गिरफ्तार

जम्मू-कश्मीर में मानवाधिकार कार्यकर्ता मोहम्मद एहसान अन्टू को कथित तौर पर सोशल मीडिया के ज़रिए हिंसा भड़काने के आरोप में गिरफ्तार कर लिया गया है। पुलिस प्रवक्ता ने शुक्रवार को बताया कि उत्तर कश्मीर के निवासी अन्टू एक सक्रिय अलगाववादी हैं और दो ज्ञात अलगाववादियों मुज़म्मिल अय्यूब ठाकुर और आसिफ़ दार द्वारा संचालित ट्विटर अकाउंट “रेडियो रेज़िस्टेंस कश्मीर” में अक्सर बतौर वक्ता जुड़ते रहता हैं।

पुलिस ने कहा, “ये दोनों (मुज़म्मिल अय्यूब ठाकुर और आसिफ़ दार) जाने-माने अलगाववादी एहसान उन्टू के साथ कई मामलों में आरोपी हैं और सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर भारत के खिलाफ नफरत फैला रहे हैं।”

पुलिस ने कहा, “इन सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म के माध्यम से दुष्प्रचार, झूठ और अभद्र भाषा के ज़रिये एहसान अन्टू न केवल जम्मू-कश्मीर के मौजूदा शांतिपूर्ण माहौल को बिगाड़ने की कोशिश कर रहा है, बल्कि भारत के खिलाफ असंतोष, दुर्भावना और वैमनस्य फैला रहा है।”

प्रवक्ता ने कहा, “वह सक्रिय रूप से आतंकवादी एजेंडा भी चला रहा था। साथ ही युवाओं को हिंसा का सहारा लेने और गैरकानूनी गतिविधियों में शामिल होने के लिए उकसा रहा था।” पुलिस ने कहा कि श्रीनगर पुलिस ने मामले में संज्ञान लेते हुए उसके खिलाफ कानून की संबंधित धाराओं के तहत मामला दर्ज किया है। पुलिस का कहना है कि मामले की जांच शुरू कर दी गई है और आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है। वह पुलिस हिरासत में है। कानून के तहत आगे की कार्रवाई होगी।

यह भी पढ़े: कश्मीर में भूकंप के झटके