प्लेऑफ की दावेदारी पक्की करने उतरेगा हैदराबाद

सनराइजर्स हैदराबाद शनिवार को एमसीए स्टेडियम में कोलकाता नाईट राइडर्स के खिलाफ होने वाले आईपीएल के मुकाबले में प्लेऑफ की दावेदारी को पक्की करने के इरादे से उतरेगी। हैदराबाद 11 मैचों में 10 अंकों के साथ तालिका में छठे स्थान पर है। प्लेऑफ में पहुंचने के लिए हैदराबाद को अपने बचे तीनों मैच जीतने हैं और इसकी शुरुआत वह कोलकाता के खिलाफ मैच से करेगा।

दूसरी तरफ कोलकाता 12 मैचों में 10 अंकों के साथ सातवें स्थान पर है और उसकी प्लेऑफ की संभावनाएं धूमिल हो चुकी हैं। तेज गेंदबाजों उमेश यादव और पैट कमिंस की ग़ैरमौजूदगी में उम्मीद है कि आंद्रे रसेल गेंदबाज़ी में पूरे चार ओवर डालेंगे और विकेट अपने नाम करेंगे। वह 14 विकेटों के साथ कोलकाता के लिए इस सीज़न में सर्वाधिक विकेट चटकाने वाले गेंदबाज़ों की सूची में दूसरे स्थान पर है। रसेल ने इन दोनों टीमों के बीच इस सीज़न में खेले गए पिछले मुक़ाबले में दो विकेट लिए थे और 49 रन बनाये थे।

पहली पसंद नहीं होने के बावजूद टिम साउदी ने इस सीज़न में कोलकाता के लिए महत्वपूर्ण योगदान दिया है। 7.22 की किफ़ायती इकॉनमी से गेंदबाज़ी करते हुए उन्होंने 12 विकेट झटके हैं। सनराइज़र्स हैदराबाद के ख़िलाफ़ अपने पिछले पांच मैचों में वह आठ की इकॉनमी से आठ शिकार कर चुके हैं।

हैदराबाद के एडन मारक्रम इस सीज़न में निरंतरता के साथ रन बनाने वाले खिलाड़ियों में से एक रहे हैं। नौ पारियों में 65.20 की औसत और 142.98 के स्ट्राइक रेट से उनके नाम 326 रन है। कोलकाता के विरुद्ध इस सीज़न के पहले मुक़ाबले में मारक्रम ने 36 गेंदों पर नाबाद 68 रन बनाए थे। साथ ही इस मैदान पर एक मैच में वह अर्धशतकीय पारी खेल चुके हैं।

नीतीश राणा ने साल 2018 में जब से कोलकाता के लिए खेलना शुरू किया हैं, वह टीम के लिए सर्वाधिक रन बनाने वाले बल्लेबाज़ बन गए हैं। धीमी शुरुआत के बाद उनकी गाड़ी पटरी पर लौट आई है और पिछले सात मैचों में चार बार उन्होंने 40 रनों का आंकड़ा पार किया हैं। अपने आईपीएल करियर में उन्होंने सर्वाधिक 394 रन सनराइज़र्स हैदराबाद के विरुद्ध ही बनाए हैं।

सनराइज़र्स के ख़ेमे में कई धाकड़ खिलाड़ी होने के बावजूद जगदीश सुचित इस सीज़न खेले गए चारों मैचों में अच्छा प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ी बनकर उभरे हैं। प्रत्येक मैच में विकेट लेने वाले सुचित के नाम चार मैचों में 7.28 की इकॉनमी से छह विकेट हैं।

बल्लेबाज़ी के लिए मुश्किल इस मैदान पर रिंकू सिंह जैसे निचले मध्य क्रम के बल्लेबाज़ अहम भूमिका निभाएंगे। इस सीज़न में उन्होंने 23 नाबाद, छह, 42 नाबाद, 23 और 35 रनों की पारियां खेली हैं। साथ ही उन्होंने नौ कैच लपके हैं और एक रन आउट भी किया है।

यह भी पढ़े: भारत के लिए जल्द ही तीनों फ़ॉर्मेट खेलेंगे तिलक: रोहित