मेरी छवि बिगाड़ने में हो रहे हज़ारों करोड़ खर्च करने का मुझे ही मिल रहा फायदा : राहुल

इंदौर (एजेंसी/वार्ता): कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने भारतीय जनता पार्टी पर हमला करते हुए कहा है कि भाजपा और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) उनकी छवि बिगाड़ने के लिए हजारों करोड़ रुपए खर्च कर चुके हैं लेकिन उन्हें नुकसान होने की बजाय इससे फायदा हो रहा है।

गांधी ने कन्याकुमारी से कश्मीर तक चल रही 3500 किलोमीटर से ज्यादा लम्बी भारत जोड़ो यात्रा के 82वें दिन सोमवार को यहां संवाददाता सम्मेलन में कहा कि भाजपा उनकी छवि बिगाड़ने में अब तक हजारों करोड़ रुपए बर्बाद कर चुकी है। इसमें भाजपा के लिए बड़ी दिक्कत यह है कि इतना खर्च करने के बावजूद उनकी छवि खराब होने की बजाय और निखर रही है तथा भाजपा की इस कोशिश का उन्हें ज्यादा लाभ मिल रहा है।

उन्होंने भाजपा की तरफ से हो रहे हमलों के कारण मिलने वाले लाभ की वजह बताते हुए कहा कि उनके साथ सच्चाई है और सच को हिलाया या मिटाया नहीं जा सकता इसलिए सच्चाई पर होने वाले हमलों का उन्हें फायदा हो रहा है।

उन्होंने कहा,“भाजपा मुझ पर पर्सनल तरीके से हमला कर रही है। ऐसे हमलों की खास बात यह होती है कि जब बड़ी शक्तियों से आप लड़ेंगे तो आप पर पर्सनल हमले ज़रूर शुरू होंगे। भाजपा मुझ पर निजी हमले यानी पर्सनल अटैक कर रही हैं। मेरी इमेज खराब करने की कोशिश कर रही है। मेरे लिए यह हमले सीख लेने का अवसर है कि मुझे अब किस तरफ जाना है इसलिए कह रहा हूं कि इन निजी हमलों से मुझे लाभ हो रहा है। मैं आरएसएस भाजपा की सोच को ठीक तरह से समझ रहा हूं और सही दिशा में आगे बढ़ रहा हूं।”

कांग्रेस नेता ने भारतीय जनता पार्टी पर कठोर होकर सरकार चलाने का आरोप लगाया और कहा कि भारत एक गतिशील यानी ‘डायनामिक’ देश है और यहां कठोर बनकर सरकार नहीं चलाई जा सकती है। उनका कहना था कि भाजपा और आरएसएस कठोर तरीके से शासन कर रहे हैं। देश को जनता के हिसाब से चलना चाहिए। उनका यह भी कहना था कि देश को भाजपा और आर एस एस के हिसाब से नहीं चलना चाहिए बल्कि जनता जिस तरह से देश चलाना चाहती है उस हिसाब से देश चलना चाहिए।

श्री गांधी ने कहा कि हिंदुस्तान को चलाना आसान काम नहीं है क्योंकि यहां शासन चलाते हुए जनता की आवाज को सुनना बड़ा काम होता है लेकिन भाजपा सरकार जनता की आवाज सुनने की बजाय कुछ उद्योगपतियों के हित में काम कर रही है।
सरकार की इस नीति से हर क्षेत्र में उनके एकाधिकार को बढ़ावा मिल रहा है जिससे छोटे और मझौले उद्योगों की अहमियत खत्म हो रही है, विकास की गति धीमी पड़ रही है, किसान की समस्या पर ध्यान नहीं दिया जा रहा है, आम लोगों को शिक्षा और स्वास्थ्य में जो सुविधा मिलनी चाहिए वह नहीं मिल रही है।

भारत जोडो यात्रा को कांग्रेस नेता ने तपस्या बताया और कहा कि हर रोज 25 किलोमीटर चलने के बाद भी कहीं किसी के चेहरे पर थकान नज़र नहीं आती है। यह यात्रा देश मे फैलाई जा रही हिंसा, नफरत, महगाई और बेरोजगारी के विरुद्ध है। काँग्रेस ही नही भाजपा के भी कई नेता सोचते हैं कि सच में मुल्क में जो माहौल बनाया जा रहा है वह ठीक नही है। उन्होंने कहा कि अब तक 2000 किलोमीटर से ज्यादा की यात्रा पूरी की जा चुकी है।

यात्रा से देश में नई चेतना विकसित हो रही है और इसके ज़रिए करुणा,भाईचारे और सम्मान के अपने परंपरागत स्वभाव के साथ देशवासियों को आगे बढ़ाने का प्रयशो रहा है। इस यात्रा के माध्यम से देश को उसका स्वभाव और डीएनए बताना है।

भारत जोडो यात्रा के बीच राजस्थान कांग्रेस में चल रही गुटबाजी से जुड़े एक सवाल पर श्री गांधी ने कहा कि राजस्थान के दोनों वरिष्ठ नेता कांग्रेस की संपदा है और वहां से जो खबरें आ रही है उसका भारत जोड़ो यात्रा पर असर नहीं होगा। मध्यप्रदेश में कांग्रेस सरकार को गिरा कर भाजपा में शामिल हुए विधायकों की वापसी से संबंधित एक अन्य सवाल पर कांग्रेस नेता ने कहा कि जो बिक जाते हैं उन पर भरोसा नहीं किया जा सकता है।

-एजेंसी/वार्ता

यह भी पढ़े: अखिलेश यादव के निर्देश पर सपा प्रतिनिधिमंडल ने मुख्य निर्वाचन अधिकारी से की भेंट