IAS Pooja Singhal को ईडी ने किया गिरफ्तार, आय से अधिक संपत्ति का है आरोप

झारखंड में तैनात IAS Pooja Singhal को ईडी ने गिरफ्तार कर लिया है. ED द्वारा उनसे मनरेगा से जुड़े फंड में हेरफेर के मामले में पूछताछ कर रही थी. पूजा सिंघल झारखंड की खनन सचिव हैं. उनपर खूंटी में महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम (MNREGA) फंड के कथित गबन सहित कई और आरोप हैं.

साल 2000 बैच की IAS अधिकारी पूजा सिंघल आज लगातार दूसरे दिन प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के सामने पेश हुईं. शाम को उन्हें गिरफ्तार किया गया. पूजा सिंघल सुबह करीब 10.40 बजे रांची में हिनू इलाके में एजेंसी के क्षेत्रीय कार्यालय पहुंचीं. केंद्रीय एजेंसी ने धन शोधन निवारण अधिनियम (पीएमएलए) के तहत अधिकारी का बयान दर्ज किया. ईडी के मंगलवार को उनसे करीब नौ घंटे तक पूछताछ की थी. एजेंसी ने उनके कारोबारी पति अभिषेक झा का भी बयान दर्ज किया है.
पढ़ें- दिल्ली के मंदिर में हनुमान चालीसा का पाठ करेंगी नवनीत राणा, उद्धव को दी चुनौती

एजेंसी ने मामले के सिलसिले में कोलकाता में फिर से छापे भी मारे. दंपति से पूछताछ ईडी द्वारा नौकरशाह, उनके पति, उनसे जुड़ी संस्थाओं और अन्य के खिलाफ छह मई को झारखंड और कुछ अन्य स्थानों पर छापेमारी के बाद हुई है. एजेंसी ने चार एसयूवी – एक जगुआर, एक फॉर्च्यूनर और होंडा ब्रांड की दो कारें भी जब्त की हैं, जो धन शोधन रोधी कानून के तहत गिरफ्तार चार्टर्ड अकाउंटेंट (सीए) सुमन कुमार या उससे जुड़े व्यक्तियों के नाम पर थीं.

सिंघल और अन्य के खिलाफ ईडी की जांच धन शोधन के उस मामले से संबंधित है जिसमें झारखंड सरकार में पूर्व कनिष्ठ अभियंता राम बिनोद प्रसाद सिन्हा को एजेंसी ने 17 जून, 2020 को पश्चिम बंगाल से गिरफ्तार किया था. एजेंसी ने सिन्हा को 2012 में पीएमएलए के तहत दर्ज राज्य सतर्कता ब्यूरो की प्राथमिकी का अध्ययन करने के बाद गिरफ्तार किया था.