मथुरा की श्रीकृष्ण जन्मभूमि से नहीं हटेगी ईदगाह, कोर्ट ने खारिज की याचिका

उत्तर प्रदेश के मथुरा में श्रीकृष्ण जन्मभूमि को लेकर दायर याचिका को सिविल जज सीनियर डिवीजन लिंक कोर्ट एडीजे एफटीसी (द्वितीय) छाया शर्मा ने खारिज कर दिया है। उन्होंने कहा कि इसके पीछे कोई पर्यपत आधार उपलब्ध नहीं हैं। अब श्रीकृष्ण विराजमान के वकील विष्णुशंकर जैन हाईकोर्ट में याचिका दायर करेंगे। गौरतलब है कि याचिका में हिन्दू भक्तों ने मथुरा में श्रीकृष्ण जन्मभूमि पर बनी ईदगाह को हटाने के लिए कोर्ट में याचिका दायर की थी।

26 सितंबर को दायर 57 पेज की याचिका में मुख्यतः 1968 में कृष्ण जन्मस्थान सेवा संस्थान और ईदगाह ट्रस्ट के मध्य हुए समझौते को रद्द करने, ईदगाह को हटाए जाने और 13.37 एकड़ जगह का मालिकाना हक श्रीकृष्ण विराजमान के नाम करने की मांग रखी गई थी। याचिका दायर करने वालों में श्री कृष्ण विराजमान के अलावा रंजना अग्निहोत्री, प्रवेश कुमार, राजेश मणि त्रिपाठी, तरुणेश कुमार शुक्ला, शिवाजी सिंह, त्रिपुरारी तिवारी भक्त वादी थे।

बुधवार दोपहर करीब 2.35 बजे अदालत ने पूरे मामले पर सुनवाई शुरू की। 20 मिनट चली इस सुनवाई में याचिकाकर्ता के वकील हरिशंकर जैन और विष्णुशंकर जैन द्वारा याचिका दायर करने के आधार रखे गए। उनका पक्ष जानने के बाद जज ने फैसला सुरक्षित रख लिया। शाम करीब 5:15 बजे एडीजे एफटीसी द्वितीय छाया शर्मा ने अपना निर्णय सुनाया और याचिका को आधारहीन बताते हुए खारिज कर दिया।

यह भी पढ़े: Unlock 5.0 Guidelines: सिनेमा हॉल, स्विमिंग पूल और स्कूल को शर्तों के साथ खोलने की मिली अनुमति
यह भी पढ़े: बिडेन के सवाल पर ट्रंप ने कहा, भारत, चीन और रूस छिपा रहे मृतकों का आंकड़ा