सनस्क्रीन अगर गर्मी में यूज करती हैं, तो हो सकता है कैंसर

गर्मियां आते ही लोगों के हाथ-पैरों पर टैनिंग होने लगती है। इस टैनिंग से बचने के लिये लोग सनस्क्रीन क्रीम का इस्तेमाल करते हैं। ताकि सूरज की हानिकारक किरणों से बचा जा सके। लेकिन क्या आप जानती हैं कि सनस्क्रीन क्रीम में कई कैमिकल्स होते हैं जो त्वचा को नुकसान देते हैं। उनमें एल्फा ड्रग्स आदि होते हैं। यह हर किसी के लिये जानना काफी जरूरी है कि सनस्क्रीन का इस्तेमाल से क्या नुकसान होते हैं।

एलर्जी

सनस्क्रीन में कई हानिकारक कैमिकल्स मिले होते हैं जिससे त्वचा की एलर्जी जैसे स्वैलिंग, लालिमा, रैशेज और इंचिंग की समस्या हो जाती है। इसकी बजाए हाइपोलर्जेनिक लेबल का सनस्क्रीन खरीदें जिनमें कैमिकल नहीं होते। इसके अलावा जिंक ऑक्साइड वाले सनस्क्रीन के इस्तेमाल से भी एलर्जी से बचा जा सकता है।

एक्ने

अगर आपकी एक्ने प्रोन स्किन है तो सनस्क्रीन आपकी इस प्रॉब्लम को और भी बढ़ा सकता है। इनसे छुटकारा पाने के लिए आप नॉन-कॉमेडोजेनिक और नॉन-ऑइली सनस्क्रीन का इस्तेमाल करें। बॉडी सनस्क्रीन काफी हैवी होता है इसलिए इसे फेस पर अप्लाय ना करने की सलाह दी जाती है।

आंखों की समस्या

अगर आप सनस्क्रीन का इस्तेमाल गलती से आँखों के आसपास करते हैं तो ऐसे में आपकी आँखों में जलन के साथ ही दर्द भी हो सकती हैं। आपकी नाजुक आँखों में सनस्क्रीन के बुरे प्रभाव से काफी नुकसान हो सकता है। आप शायद हमारी इस बात पर विश्वास ना करें, लेकिन हम आपको बता दें कि सनस्क्रीन का इस्तेमाल करने से आप अंधे भी हो सकते हैं। अगर गलती से आपकी आँखों में सनस्क्रीन चली भी जाएँ तो आप एकदम से आँखों को पानी से धो लें या फिर डॉक्टर से संपर्क करें।

बालों वाले हिस्से में समस्या

पुरुष हो या महिला दोनों के शरीर में बाल होते हैं, जो किसी को आसानी से नहीं दिखते हैं। बाल ज्यादातर आंतरिक क्षेत्रों में ही होता है। अगर आप अंडर आर्मस (under arms) , हाथों, या छाती के बालों पर सनस्क्रीन क्रीम का इस्तेमाल करते हैं तो ऐसे में आपकी त्वचा रूखी हो जाएगी, जिससे आपके बाल टाइट हो जाते हैं और आपको दर्द होना शुरू हो जाता है।

ब्रैस्ट कैंसर

बॉडी पर सनस्क्रीन लोशन लगाने से कैंसर जैसी गंभीर बीमारी होने का खतरा रहता है। कुछ लोशन ऐसे होते हैं जो ब्रैस्ट सैल्स पर एस्ट्रोजेनिक प्रभाव डालते हैं जिससे ब्रैस्ट कैंसर हो सकता है। इसके अलावा छोटे बच्चों की बॉडी बहुत कोमल होती है इसलिए उनके शरीर पर कभी इस लोशन का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए।

झुर्रिंयों को पैदा करना

आप अपनी त्वचा को हानिकारक यूवी किरणों बचाने के लिए सनस्क्रीन का इस्तेमाल कर सकते हैं, लेकिन आपको इसी के साथ इस बात का ख्याल भी रखना होता है कि कही यह आपकी त्वचा में झुर्रिंयों को तो पैदा नहीं कर रही हैं, जिससे आपका चेहरा बूढ़ा लग सकता है और आप उम्र से पहले ही बूढ़ी दिखने लग सकती हैं।

इसलिये अगर आप घर या ऑफिस के अंदर भी हैं तब भी हर चार घंटे के अंतराल में अपने हाथ और फेस पर सनस्क्रीन अप्लाय करें।

यह भी पढ़ें-

गर्मियों में कीजिये खरबूजे का आनंद, सेहत को मिलेंगे ये लाभ