पीरियड्स में अधिक ब्लीडिंग की है समस्या, तो आजमाएं ये घरेलू उपचार

हालांकि पीरियड्स हर 28 दिन पर आता है, लेकिन यह महिला के मेंस्ट्रुअल साइकल पर निर्भर करता है। किसी महिला को जल्दी हो जाता है तो किसी को देर से होता है। कई महिलाएं ऐसी भी होती हैं जिन्हें सामान्य से अधिक ब्लीडिंग होने की समस्या रहती है। अधिक ब्लीडिंग होने के कारण उन्हें असहजता महसूस होती है और इससे उनकी दैनिक दिनचर्या भी प्रभावित होती है। लेकिन इस समस्या से निजात पाने के लिए आप कुछ आसान से घरेलू उपचारों की मदद ले सकते हैं। ये घरेलू उपचार आपकी ब्लीडिंग को कम कर देंगे, साथ ही पीडियड्स के दौरान होने वाली समस्याओं को भी कम करने में मदद करेंगे। लेकिन यदि जरूरत से ज्यादा ब्लीडिंग हो तो आपको डॉक्टर से संपर्क करने की जरूरत है।

आइस पैक
आइस पैक को अपने पेट के नीचले हिस्से पर लखकर 20 मिनट तक छोड़ दें। इस विधि को दिन में कई बार दोहराएं। यह आपके ब्लड फ्लो को रेगुलेट करने में मदद करता है।

आयरन सप्लीमेंट्स
कुछ अध्ययन ऐसे हैं जो बताते हैं कि आयरन मेंस्ट्रुअल साइकल के दौरान ब्लड फ्लो को बढ़ा देता है और यदि आप आयरन सप्लीमेंट्स लेते हैं तो वह आपके ब्लड फ्लो को कम करने में मदद करते हैं।

दालचीनी की चाय
यदि आप अपने मासिक धर्म के दौरान अधिक ब्लड फ्लो का सामना कर रहे हैं, तो उस दौरान दालचीनी की चाय का सेवन जरूर करें। यह ब्लड फ्लो को कम करने के लिए जाना जाता है क्योंकि यह गर्भाशय से रक्त प्रवाह को प्रोत्साहित करता है और यह सूजन को कम करने में भी मदद करता है।

पार्सले
अधिक ब्लड फ्लो और पीरियड्स दो प्रमुख समस्याओं को बढ़ाते हैं – रक्त की हानि के कारण सूजन और आयरन की कमी। पार्सले एक ऐसा भोजन है जो दोनों का हल कर सकता है। विटामिन सी से भरपूर होने के कारण, यह आयरन को अवशोषित करता है जो अधिक ब्लड फ्लो को कम करता है और पार्सले में उपलब्ध एंटीऑक्सीडेंट सूजन को भी कम करता है। आप कुछ पार्सले के पत्तों को चबा सकते हैं या फिर पार्सले का जूस बनाकर पी सकते हैं।

यह भी पढे –

कैंसर से लेकर डायबिटीज तक जामुन होता है फायदेमंद, और भी हैं कई फायदें