गर्मागर्म चाय पीने के हैं शौकीन, तो जरूर पढें यह खबर

बहुत से लोगों के सुबह की शुरूआत चाय के साथ ही होती है। लोग मानते हैं कि चाय का सेवन गर्मागर्म ही करना चाहिए। अगर आपका नाम भी ऐसे ही लोगों की लिस्ट में शुमार है तो थोड़ा संभल जाइए। आपको शायद पता न हो लेकिन बेहद गर्म चाय पीने के कारण कैंसर होने का खतरा काफी हद तक बढ़ जाता है। तो चलिए जानते हैं इसके बारे में-

हाल ही में हुए एक शोध से यह बात सामने आई है कि गर्म चाय पीने वालों को इसोफेगल यानी खाने की नली का कैंसर होने का खतरा बढ़ जाता है। प्रतिदिन 75 डिग्री सेल्सियस या इससे ज्यादा गर्म चाय पीने वालों में इसोफेगल कैंसर का खतरा दोगुने से भी ज्यादा होता है।

जबकि चार मिनट तक इंतजार कर सकते हैं तो इसोफेगल कैंसर होने का खतरा कम हो जाता है। इसका मुख्य कारण है कि गर्म चीज हमारे गले के टिशूज को नुकसान पहुंचाती है। इसलिए चाय को गैस से उतारने के दो मिनट के अंदर ही इसे पीने वालों को कैंसर का खतरा कई गुना बढ़ जाता है। विशेषज्ञों के अनुसार चाय पीने और कप में डालने के बीच कम से कम पांच मिनट का अंतर होना चाहिए।

गर्म चाय पीने से सिर्फ गले का कैंसर ही नहीं बल्कि एसिडीटी, अल्सर और पेट से जुड़ी तमाम बीमारियां हो सकती हैं।