हाई कॉलेस्ट्रोल से जूझ रहे हैं, तो डाइट में मक्खन की जगह करें इन चीज़ों को शामिल

मक्खन एक ऐसी चीज़ है जिसका दुनियाभर में खूब उपयोग होता है। टोस्ट में लगाकर खाने से लेकर इसे बेकिंग में भी खूब इस्तेमाल किया जाता है। इसलिए मक्खन को डाइट से निकालना बेहद मुश्किल है। हालांकि, हेल्थ एक्सपर्ट्स अक्सर यही सलाह देते हैं कि जो लोग हाई कॉलेस्ट्रोल से जूझ रहे हैं उन्हें मक्खन से दूर रहना चाहिए।

क्या मक्खन उच्च कोलेस्ट्रॉल को खराब कर सकता है?

100 ग्राम मक्खन में लगभग 215 मिलीग्राम कोलेस्ट्रोल होता है। आप रोज़ाना 300 मीलीग्राम कोलेस्ट्रोल का सेवन कर सकते हैं। कभी-कभी मक्खन खा लेने से ज़्यादा असर नहीं पड़ेगा, लेकिन जो लोग हाई कोलेस्ट्रोल से जूझ रहे हैं, उनके लिए रोज़ाना मक्खन खाना मुसीबत पैदा कर सकता है। इसलिए स्वस्थ रहने के लिए आप मक्खन की जगह कई और चीज़ों को भी शामिल कर सकते हैं।

मक्खन की जगह कर सकते हैं इन 5 चीज़ों का इस्तेमाल

घी: आप घी को अपनी डाइट में बड़ी आसानी से शामिल कर सकते हैं। यह बाज़ार में आसानी से उपलब्ध भी होता है। इसका अनोखा स्वाद और खुशबू खाने के ज़ायके को दोगुना कर देता है। घी, मक्खन से ज़्यादा हेल्दी होता है, और इसे किसी भी डिश में डाला जा सकता है।

ऐवकाडो: अपने क्रीमी टेक्सचर की वजह से पॉपुलर यह फल, मक्खन की जगह इस्तेमाल किया जा सकता है। यह न सिर्फ खाने में स्वाद को बढ़ाता है, बल्कि इसमें कोलेस्ट्रोल में सुधार करने के गुण भी शामिल होते हैं। आप ऐवकाडो को सलाद, ग्वाकामोली, टोस्ट और स्क्रैमबल्ड अंडों में शामिल कर सकते हैं।

एप्पलसॉस: मक्खन के इस स्वादिष्ट विकल्प में सेब के रेशेदार गुण और दालचीनी की एंटीऑक्सीडेंट शक्ति होती है। इसे मीठे से लेकर स्पाइसी बनाया जा सकता है। इस कई तरह से इस्तेमाल किया जा सकता है और यह स्वस्थ कोलेस्ट्रोल प्रबंधन में मदद भी कर सकता है।

ज़ैतून का तेल: तेल का चुनाव रोज़ाना की डाइट की गुणवत्ता को काफी हद तक प्रभावित कर सकता है। मक्खन के लिए एक स्वस्थ विकल्प होने के अलावा, ज़ैतून के तेल में खाना पकाया भी जा सकता है। यह तेल कोलेस्ट्रोल में सुधार करने के साथ दिल की बीमारियों के जोखिम को कम करता है और वज़न घटाने में मददगार साबित होता है।

दही: अगर आप मक्खन को अपनी डाइट से हटाना चाह रहे हैं, तो इसकी जगह दही का सेवन कर सकते हैं। दही का क्रीमी टेक्सचर इसे स्वादिष्ट बनाने के साथ हेल्दी भी बनाता है। इसके अलावा, यह प्रोबायोटिक्स का एक समृद्ध स्रोत है और स्वस्थ कोलेस्ट्रोल विनियमन के साथ, यह एक स्वस्थ आंत को बनाए रखने में भी मदद कर सकता है। आप इसे खाने के साथ खा सकते हैं या फिर नाश्ते में खा सकते हैं।

यह भी पढ़ें- कई समस्याओं के हल के साथ चेहरे की स्किन को भी टाइट बनाते हैं ये आसन