Uric Acid से परेशान हैं तो कॉफी दिला सकती है राहत, जानिए डाइट में और क्या शामिल करें

यूरिक एसिड शरीर में मौजूद एक अपशिष्ट उत्पाद है। यह तब बनता है जब प्यूरीन नामक केमिकल टूट जाता है। प्यूरीन शरीर में पाया जाने वाला एक प्राकृतिक पदार्थ है। वे कई फूड्स जैसे मीट, ड्राई बीन्स में भी पाए जाते हैं। डीएनए के टूट जाने पर वे शरीर में भी बन सकते हैं। यदि आपका शरीर बहुत अधिक यूरिक एसिड बनाता है, या यदि आपका किडनी अच्छी तरह से काम नहीं कर रहा है, तो यूरिक एसिड ब्लड में निर्माण कर सकता है। ऐसे में कॉफी पीना आपके शरीर में बढ़ते यूरिक एसिड के लेवल को कंट्रोल करने में मदद करता है। आइए
जानते हैं इससे जुड़ी अन्य जानकारी-

कॉफी: रिसर्च में पाया गया है कि जो लोग कॉफी पीते हैं उनका यूरिक एसिड लेवल कंट्रोल में रहता है और गाउट की समस्या भी नहीं होती है। जिन महिलाओं ने प्रतिदिन 4 कप से अधिक कॉफी का सेवन किया, उनमें यह स्थिति होने का खतरा 57% कम होता है।

विटामिन-सी सप्लीमेंट लें: विटामिन सी सप्लीमेंट्स लेने से भी यूरिक एसिड को कंट्रोल किया जा सकता है। विटामिन सी एक एंटीऑक्सीडेंट है जो एस्कॉर्बिक एसिड के रूप में भी जाना जाता है। यही कारण है कि यह आपके शरीर को फ्री-रेडिकल्स के खिलाफ खुद को बचाने में मदद करता है जो नुकसान पहुंचा सकते हैं।

अदरक: अदरक में एंटी-इंफ्लेमेट्री गुण होता है जो शरीर में यूरिक के लेवल को कंट्रोल करने में मदद करता है। शोधकर्ताओं ने पाया है कि अदरक गाउट से जुड़े दर्द को कम कर सकता है।

अमरूद का पत्ता: अमरूद अपने एंटीऑक्सीडेंट और एंटी-इंफ्लेमेट्री गुणों के लिए जाना जाता है। कुछ लोग पाचन तंत्र और इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए अमरूद की पत्तियों को सेवन करते हैं। कुछ रिसर्च सोर्स बताते हैं कि अमरूद के पत्ते में एंटी-गाउट गुण भी हो सकते हैं। साथ ही यह यूरिक एसिड भी कंट्रोल कर सकता है।

हल्दी: हल्दी में एंटीइंफ्लेमेट्री गुण होते हैं जो शरीर में यूरिक एसिड के लेवल को कंट्रोल करने में मदद करते हैं। इसके अलावा यह गाउट के कारण होने वाले दर्द और सूजन से भी राहत दिलाने में मदद करते हैं।

यह भी पढ़े-

Uric Acid के मरीज करें गोभी और मशरूम से परहेज, इन फूड आइटम्स से दूरी भी जरूरी