बच्चे की गर्दन पर हो जाएं रैशेज, तो ऐसे करें इसका उपचार

गर्मी के मौसम में पसीना आना एक आम बात है। लेकिन अक्सर देखने में आता है कि इस मौसम में पसीने के कारण छोटे बच्चों की गर्दन, जांघ और कोहनी पर रैशेज हो जाते हैं। अगर इन रैशेज पर सही समय पर ध्यान न दिया जाए तो इससे समस्या बढ़ सकती है। तो चलिए जानते हैं स्किन पर पसीने के कारण होने वाले रैशेज के कुछ प्राकृतिक उपचार के बारे में-

  • नारियल के तेल में किसी भी तरह के हानिकारक केमिकल्स नहीं होते। साथ ही इसमें मौजूद विटामिन ई और एंटी-माइक्रोबियल गुण बच्चों के इंफैक्शन को ठीक करने में मदद करते हैं। बच्चे की स्किन पर रैशेज न पडें तो आप नारियल तेल से बच्चे की मालिश करें।
  • इसके अतिरिक्त एलोवेरा जेल में एंटी-बैक्टीरियल, एंटी-इंफ्लेमेंट्री और एंटी-फंगल औषधीय गुण होते हैं। अगर आप इससे बच्चे की मसाज करते हैं तो उसे रैशेज और खुजली से राहत मिलती है।
  • गर्मी में बच्चे को पसीना कम आए। इसके लिए आप बच्चे को रोजाना समय पर नहलाएं। डॉक्टर की सलाह से बच्चे के लिए लोशन और मॉइश्चराइजर का इस्तेमाल करें।
Loading...