अधिक समय तक बैठे रहते हैं, तो खो सकती है आपकी याददाश्त

तकनीकी के विस्तार के साथ लोग घंटों तक कंप्यूटर के सामने बैठे रहते हैं। लेकिन लम्बे समय तक बैठे रहने से आपको शरीर की कई तरह की परेशानियां हो सकती है। इसके कारण आपको मोटापा, कमरदर्द, गर्दन दर्द व पाचन संबंधी समस्या तो होती हैं ही, साथ ही इसका असर आपके मानसिक स्वास्थ्य पर भी पड़ता है। खासतौर से, इससे आपकी याददाश्त खोने तक का डर बना रहता है। तो चलिए जानते हैं इसके बारे में-

आपने देखा होगा कि अधेड़ उम्र में लोगों की याददाश्त कमजोर होती है। इसका एक मुख्य कारण उनका लम्बे समय तक बैठे रहना होता है। यूनिवर्सिटी ऑफ कैलिफार्निया के शोधकताओं की रिसर्च से यह बात भी सामने आई है कि लम्बे समय तक बैठे रहने से याददाश्त पर विपरीत प्रभाव होता है। दरअसल, लम्बे समय तक बैठे रहने से मेडियल टैम्पोरल लॉब अर्थात एमटीएल पतला होता जाता है। एमटीएल दिमाग का एक ऐसा हिस्सा है जहां नई याददाश्त इकट्ठी होती है। लेकिन जब यह पतला होता है तो इससे सोचने-समझने की क्षमता भी कम होने लगती है।

सेहत के लिए गर्भावस्था में पैरासिटामॉल खाना हो सकता नुकशानदायक