Uric Acid को कंट्रोल करना है तो रोज पीयें 8 से 10 गिलास पानी, जानिये और किन बातों का ध्यान रखना जरूरी

लापरवाह लाइफस्टाइल और अनहेल्दी डाइट की वजह से शरीर में यूरिक एसिड का स्तर हाई रहने की समस्या काफी आम हो चुकी है। आमतौर पर यह खून के जरिए किडनी तक पहुंचता है और यूरिन के जरिए बाहर निकल जाता है। लेकिन जब शरीर में इस एसिड की मात्रा ज्यादा हो जाती है तो कई अन्य स्वास्थ्य समस्याओं का खतरा बढ़ जाता है। शरीर के जोड़ों और टिश्यूज में यूरिक एसिड की अधिकता से कई लोगों को गाउट नाम की बीमारी हो जाती है। इसके अलावा, हाई बीपी, डायबिटीज, किडनी रोग और मोटापा का खतरा भी हाई यूरिक एसिड के मरीजों को ज्यादा होता है। ऐसे में इसे कंट्रोल करने के तरीकों को जानना बेहद जरूरी है।

पीयें 8-10 गिलास पानी: शरीर में यूरिक एसिड लेवल जब ज्यादा हो जाता है तो इसका प्रभाव मरीजों की किडनी पर भी पड़ता है। इस कारण किडनी टॉक्सिक पदार्थों को सुचारू रूप से फिल्टर करने में सक्षम नहीं रह जाती है जिस वजह से ये एसिड शरीर के जोड़ों में क्रिस्टल के फॉर्म में जमा हो जाते हैं। हेल्थ एक्सपर्ट्स के अनुसार रोजाना 8 से 10 गिलास पानी से शरीर हाइड्रेटेड रहता है जिससे किडनी को यूरिक एसिड को बाहर निकालने में मदद मिलती है। ऐसे में हाई यूरिक एसिड के मरीजों को हमेशा अपने साथ पानी का बोतल रखना चाहिए।

डाइट में केले को करें शामिल: पोटैशियम यूरिक एसिड को पेशाब के माध्यम से बाहर निकालने में मदद करता है। केला पोटैशियम के समृद्ध स्रोतों में से एक माना जाता है। इसके साथ ही केला में प्रोटीन की मात्रा कम होती है, बता दें कि यूरिक एसिड की शरीर में अधिकता होने पर कम प्रोटीन युक्त खाद्य पदार्थ खाने की सलाह दी जाती है। वहीं, केला खाना यूरिक एसिड के क्रिस्टलाइजेशन को रोकने में भी सहायक है। इसके अलावा, डॉक्टर्स गठिया के मरीजों को भी केला खाने की सलाह देते हैं।

प्यूरीन वाले फूड्स से कर लें तौबा: यूरिक एसिड एक ऐसा केमिकल है जो शरीर में प्यूरीन (purine) नामक प्रोटीन के ब्रेकडाउन होने पर बनता है। ऐसे में मरीजों को प्यूरीन से भरपूर खानों से परहेज़ करना चाहिए। स्वास्थ्य विशेषज्ञ इसे यूरिक एसिड को कंट्रोल करने की तरफ पहला कदम मानते हैं। मरीजों को गोभी, राजमा, मशरूम, पनीर, हरी बीन्स, समुद्री मछली व फुल फैट डेयरी प्रोडक्ट्स के इस्तेमाल से बचना चाहिए।

यह भी पढ़े-

डायबिटीज के मरीज हैं तो जरूर करें अमरूद का सेवन, इन गंभीर बीमारियों को दूर करने में भी है कारगर