Thyroid से पाना चाहते हैं निजात तो गोभी से तुरंत बना लें दूरी, जानें क्या खाना हो सकता है खतरनाक

लापरवाह जीवन-शैली और अनहेल्दी खानपान के कारण ज्यादातर लोग थायरॉयड की बीमारी से परेशान होते हैं। पहले जहां उम्रदराज लोग थायरॉयड की चपेट में आते थे वहीं, आज व्यस्क भी इस बीमारी से पीड़ित हो रहे हैं। पुरुषों की तुलना में महिलाओं को इस बीमारी के होने का 2 गुना ज्यादा खतरा होता है। 18 से 35 साल की महिलाएं, खासकर प्रेग्नेंट लेडीज को इस बीमारी से दूर रहने के लिए अपना विशेष ख्याल रखना चाहिए। ह्यूमन एक्टिविटीज के लिए थायरॉयड ग्लैंड से निकलने वाला हार्मोन थायरॉक्सिन सीमित मात्रा में जरूरी है। लेकिन शरीर में अनियमित मात्रा में इस हार्मोन के होने से हाइपर और हाइपो थायरॉयड की परेशानी हो सकती है। ऐसे में ये जानना बहुत जरूरी है कि थायरॉयड से बचने के लिए किन खाद्य पदार्थों से परहेज करना चाहिए-

फूल व पत्ता गोभी: वैसे लोग जो थायरॉयड की समस्या से जूझ रहे हैं, हेल्थ एक्सपर्ट्स उन्हें पत्ता गोभी और फूल गोभी को कम या फिर बिल्कुल नहीं खाने की सलाह देते हैं। इसके अलावा, ब्रोकली भी इन मरीजों के लिए खतरनाक साबित हो सकता है। इन हरी सब्जियों में गाइट्रोगन की मात्रा अधिक होती है, बता दें कि ये तत्व शरीर में थायरॉयड को ट्रिगर करने का काम करता है। इसके अलावा, इन सब्जियों में मौजूद फाइबर थायरॉइड के मरीजों के लिए घातक साबित हो सकता है।

ग्लूटेन युक्त फूड: बाजरा जैसे ग्लूटेन युक्त खाद्य पदार्थों में गाइट्रोगन नामक तत्व भी पाए जाते हैं जो इस बीमारी के मरीजों के लिए नुकसानदेह साबित हो सकता है। बता दें कि थायरॉइयड के बढ़ने का सीधा कनेक्शन ग्लूटेन से भी होता है। गेंहू, बाजरा जौ और राई जैसे कई तरह के अनाज में ग्लूटेन भरपूर मात्रा में पाया जाता है। ऐसे में अगर मरीज खुद को स्वस्थ व थायरॉइड को कंट्रोल में रखना चाहते हैं तो ग्लूटेन युक्त खाद्य पदार्थों के सेवन पर अंकुश लगाना जरूरी है।

कॉफी: कॉफी पीना कई लोगों को पसंद होता है और इसके बहुत सारे स्वास्थ्य लाभ भी होते हैं। लेकिन थायरॉयड के मरीजों को कॉफी कम पीने की सलाह दी जाती है, खासकर दवा खाने के बाद तो कॉफी पीने से परहेज करना चाहिए। ऐसा इसलिए क्योंकि कॉफी थायरॉयड की दवाइयों को निष्प्रभावी बनाने का काम करती है। इससे मरीजों का ब्लड शुगर अचानक से बढ़ सकता है। इससे थायरॉयड ग्लैंड भी प्रभावित होता है और लोगों में सूजन की समस्या भी देखने को मिलती है।

यह भी पढ़े-

Uric Acid के मरीज करें गोभी और मशरूम से परहेज, इन फूड आइटम्स से दूरी भी जरूरी