अगर आप लम्बे समय तक जीना चाहते है तो अपनाये ये आसान उपाय

अगर आप लंबे समय तक जीना चाहते हैं, तो तेज गति से चलना शुरू करें क्योंकि इससे कार्डियोवैस्कुलर बीमारी के कारण मृत्यु दर का खतरा अत्यधिक कम हो सकता है। शोधकर्ताओं का यह कहना है कि औसत गति से चलने से कार्डियोवैस्कुलर बीमारी की मृत्यु दर में अत्यधिक तेजी से चलने वाले लोगों के लिए तकरीबन 24 प्रतिशत और लगभग 21 फीसदी की कमी आई है।

आपको बता दे की औसत गति से चलने से मृत्यु दर में तकरीबन 20 फीसदी की कमी आई है, जबकि तेज गति से चलने से जोखिम धीमी गति से चलने की तुलना में चार और फीसदी कम हो गया है। औसत या तेज़ गति से चलने से मृत्यु के कारण मृत्यु दर और कार्डियोवैस्कुलर बीमारी का बहुत ही कम जोखिम होता था। तेज गति आमतौर पर लोग प्रति घंटे पांच से सात किलोमीटर चल सकते है।

लेकिन यह वास्तव में फिटनेस स्तर पर निर्भर पूर्ण्तः करता है कि आप कितना चल सकते। एक रिसर्च में पता चला है कि चलने की गति इतनी होनी चाहिए कि आपके शरीर से पसीना आये और आपकी सांस लेने की क्षमता में तेजी आये। शोधकर्ताओं ने यह भी पाया कि 60 साल या उससे अधिक उम्र के लोग औसत गति वाले वॉकर कार्डियोवैस्कुलर कारणों से मृत्यु के जोखिम में 46 प्रतिशत की कटौती हुई है। और तेजी से गति वाले वॉकर लोगों में 53 प्रतिशत की कटौती हुई हैं।