मुख्यमंत्री नीतीश के क़रीबी मंत्री विनोद सिंह का हुआ आकस्मिक निधन

प्रदेश की एनडीए सरकार के पिछड़ा एवं अति पिछड़ा कल्‍याण मंत्री विनोद सिंह का निधन हो गया है। मंत्री विनोद सिंह को पिछले दिनों कोरोना होने के बाद पटना के एम्‍स हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था। इलाज के दौरान दो-तीन बाद ही उन्‍हें ब्रेन हैमरेज हो गया। इसके बाद उन्‍हें गुड़गांव के मेदांता हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था। गुड़गांव के मेदांता हॉस्पिटल में आज सुबह उन्‍होंने अंतिम सांस ली। मंत्री की पत्‍नी निशा सिंह को भाजपा ने बिहार विधानसभा चुनाव 2020 में कटिहार जिले की प्राणपुर सीट से उम्‍मीदवार बनाया है। विनोद सिंह इसी सीट से भाजपा के विधायक थे।

ढाई महीने बीमार चल रहे मंत्री विनोद कुमार सिंह को तबीयत बिगड़ने के बाद अगस्‍त में पटना मे भर्ती कराया गया था। पटना में दो दिन तक उनकी तबीयत में कोई सुधार नहीं होने के बाद उन्हें दिल्ली ले जाने की सलाह डाक्टर ने दी। मंत्री विनोद सिंह जुलाई में ही कोरोना को मात देकर अपने घर वापस लौटे थे। मंत्री का ब्‍लड प्रेशर और शुगर अचानक बढ़ जाने के कारण उनकी तबीयत बिगड़ती देख परिजनों उन्हें पटना ले गए थे।

Loading...