तुरंत छोड़ दें कोरोना को हल्‍के में लेना, फिर टेंशन देने लगा वायरस; 5 महीने बाद आज लखनऊ में मिले सबसे ज्‍यादा मरीज

कोरोना मरीजों की संख्या में बुधवार को रिकॉर्ड इजाफा हुआ है। 24 घण्टे की जांच में लखनऊ में 191 नए मरीज मिले हैं। 13 फरवरी को 204 सबसे अधिक मरीज मिले थे। जबकि मंगलवार को 132 लोगों में वायरस की पुष्टि हुई है। रोजाना छह से सात हजार लोगों की जांच कराई जा रही है। लगातार मरीजों की संख्या में वृद्धि से स्वास्थ्य विभाग की चिंता बढ़ गई है।

सबसे ज्यादा आलमबाग में 29 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। सरोजनीनगर में 22 लोग संक्रमित मिले हैं। इन्दिरानगर में 19 लोगों में वायरस मिले हैं। सिल्वर जुबली इलाके में 15, चिनहट में 14, रेडक्रास में 13 आदि अन्य इलाकों में पॉजिटिव मरीज मिले हैं।

सीएमओ डॉ. मनोज अग्रवाल के मुताबिक बाहर से आने वालों की जीनोम सिक्वेंसिंग कराई जा रही है। उन्होंने बताया कि मई तक के नमूनों की रिपोर्ट आ चुकी है। जल्द ही जून तक पॉजिटिव आने वालों की रिपोर्ट जल्द आने की उम्मीद है। उन्होंने बताया कि अभी कोरोना के नए वैरिएंट की पुष्टि नहीं हुई है। वायरस के ओमीक्रॉन वैरिएंट की ही पुष्टि हुई है।

बरतें सावधानी

सीएमओ प्रवक्ता योगेश रघुवंशी ने बताया कि कुल 18 मरीज अस्पतालों में भर्ती हैं। करीब 589 मरीज होम आईसोलेशन में हैं। इनमें 60 फीसदी मरीज बिना लक्षण वाले हैं। बाकी 40 फीसदी मरीज सर्दी-जुकाम और बुखार के हल्के लक्षण वाले हैं। सीएमओ डॉ. मनोज अग्रवाल ने बताया कि वायरस से बचाव के लिए कोविड प्रोटोकाल का पालन करें। मास्क लगाकर ही घर से बाहर निकलें। भीड़-भाड़ में जाने से बचें।

यह पढ़े: गिर जाएगी उद्धव ठाकरे सरकार? संजय राउत बोले- विधानसभा भंग हो सकती है; भाजपा की तैयारियां तेज