बाईपास सर्जरी से जुड़ी महत्वपूर्ण बातें

सामान्यतः उम्र के एक पड़ाव पर दिल की धमनियों में जब किसी तरह का ब्‍लॉकेज हो जाता है और रक्‍त संचार में बहुत ही गंभीर समस्‍या होती है तब बाइपास सर्जरी के जरिये इस गंभीर समस्‍या का समाधान किया जाता है। लेकिन यह हर उम्र वर्ग में नहीं कराया जा सकता है, इसके लिए एक निर्धारित उम्र होती है। नहीं तो इसके बहुत ही नकारात्‍मक प्रभाव पड़ सकते हैं।

वर्तमान समय के इस व्यस्ततम माहौल में लोगो की जिंदगी एक मशीन की तरह हो गयी है। जिससे वो पूरी तरह तनाव में रहते है इसी कारण सामान्‍यतया अस्‍वस्‍थ जीवनशैली के कारण बाइपास सर्जरी अब पूरी तरह युवाओं की भी होने लगी है। लेकिन पहले इसकी आवश्यकता उम्रदराज लोगों को ही होती थी।

आपको बता दे की इस समय 18-20 साल की उम्र के बच्‍चे भी इसके शिकार हो रहे हैं और उनको भी बाइपास सर्जरी की आवश्यकता होने लगी है। लेकिन इसका रिस्‍क 85 साल की उम्र के बाद भी नहीं होता है।