इन तरीकों से आप कर सकते हैं असली केसर की पहचान

आजकल मार्केट में मिलने वाले मसालों में दुकानदार खूब मिलावट करते हैं । ऐसे में कई बार आप असली-नकली की पहचान करने में असमर्थ हो जाते हैं और दुकानदार द्वारा दिए गए सामान को ही असली मानकर घर ले आते हैं।

आमतौर पर लोगों को केसर की असली-नकली पहचान करने में काफी दिक्कत होती है, क्योंकि केसर बहुत महंगा होता है, ऐसे में उसकी असली पहचान कर पाना उससे ज्यादा मुश्किल होता है. तो चलिए आज जानते हैं शुद्ध और असली केसर कैसे पहचाने.

असली केसर पहचानने के तरीके

  • गर्म पानी या दूध में केसर डालने पर अगर वह तुरंत रंग छोड़ दे, तो नकली है. असली केसर कम से कम 10-15 मिनट के बाद ही गहरा लाल रंग छोड़ता है. गर्म जगह पर केसर रखने से यह खराब हो जाता है जबकि नकली केसर वैसा का वैसा रहता है.
  • असली केसर का स्वाद कड़वा होता है, केसर के धागों को मुंह मे डालने से अगर मीठा लगे तो समझ लीजिए कि ये नकली है. असली केसर सिर्फ सुगंध वाला होता है इसका कोई टेस्ट नहीं होता. केसर के धागे हमेशा सूखे होते हैं. पकड़ने से टूट जाते हैं.
  • केसर के कुछ धागों को पानी में भिगोइए,अगर यह पूरी तरह से रंग छोड़ दे और सफेद हो जाए तो नकली है. भींगी उंगलियों के बीच केसर को रगड़े, अगर कलर लाल, संतरी या पीला हो जाए तो केसर असली है.
  • पानी में एक छोटा चम्मच बेंकिग सोडा और केसर के कुछ धागे डालिए,अगर रंग पीला हो जाए तो ये असली है और अगर ये लाल हो जाए तो नकली