तमिलनाडु में तेज़ी से बढ़ते कोरोना मामलों को देखते हुए राज्य सरकार ने 31 जनवरी तक बढ़ाई पाबंदी, 14 से 18 जनवरी तक मंदिर बंद

सोमवार को तमिलनाडु में 13 हज़ार 990 लोगों के वायरस के लिए सकारात्मक पाए जाने के बाद सरकार ने प्रतिबंधों की घोषणा की। रविवार को तमिलनाड़ु ने 12 हज़ार 895 कोविड-19 के नए मामले दर्ज किए थे। 6 हज़ार 190 संक्रमण के मामलों के साथ चेन्नई राज्य में सबसे ऊपर है इसके बाद पड़ोसी चेंगलपट्टू और तिरुवल्लुर ज़िलों में 1,696 और 1,054 मामले दर्ज किए गए। उपचार के तहत 30 हज़ार 843 रोगियों के साथ चेन्नई में राज्य के सक्रिय केसलोएड का लगभग आधा हिस्सा है।

सरकार ने आगामी पोंगल त्योहार के मद्देनजर 31 जनवरी तक सभी मौजूदा कोविड से संबंधित मानदंडों को अतिरिक्त कर्फ्यू के साथ बढ़ा दिया है। जैसे कि 14 से 18 जनवरी के बीच सभी पूजा स्थलों को जनता के लिए बंद कर दिया गया है। वहीं राज्य सरकार ने घोषणा की कि 16 जनवरी (रविवार) को पूर्ण लॉकडाउन लागू किया जाएगा । पोंगल त्योहार को ध्यान में रखते हुए बसों में बैठने की सीमा को मौजूदा 50 प्रतिशत से बढ़ाकर 75 प्रतिशत कर दिया गया है।

मुख्यमंत्री एमके स्टालिन ने राज्य के स्वास्थ्य मंत्री एमए सुब्रमण्यम और कई अन्य अधिकारियों के साथ दिन में पहले समीक्षा बैठक के बाद निर्णय की घोषणा की। मामलों में नवीनतम स्पाइक एक दिन बाद आया जब रविवार को राज्य ने वायरस के प्रसार को रोकने के लिए कुछ आराम के साथ पूर्ण तालाबंदी देखी इस बीच राज्य में 11 और लोगों ने अपनी बीमारी के कारण दम तोड़ दिया जिससे मरने वालों की कुल संख्या 36 हज़ार 866 हो गई।

राज्य में पिछले 24 घंटों में महामारी के लिए 1 लाख 35 हज़ार 266 नमूनों का परीक्षण किया गया, जिससे कुल परीक्षण 5 करोड़ 86 लाख 62 हज़ार 798 हो गए।

यह पढ़े: मकर संक्रांति और लग्न के लिए अपने अपने गांव जा रहे लोग,कोरोना की आड़ में पलायन की अफवाह, 17 जनवरी तक ट्रेनो में सामान्य वेटिंग ,थर्ड एसी में खाली पड़ी हैं सीटें