खाने से पहले डाइट में शामिल करें टमाटर और खीरा, यूरिक एसिड के मरीजों को मिलेगी राहत

शरीर में यूरिक एसिड का उच्च स्तर कई तरह की बीमारियां पैदा करता है, जैसे आर्थराइटिस, गाउट, हृदय रोग या किडनी से जुड़ी समस्या। यूरिक एसिड के स्तर का पता ब्लड टेस्ट के जरिए आसानी से लग सकता है। यूरिक एसिड को कंट्रोल करने के लिए आपको अपनी डाइट और लाइफस्टाइल का खास ध्यान रखने की जरूरत होती है। कुछ ऐसे फूड्स होते हैं जो यूरिक एसिड को कंट्रोल करते हैं। ऐसे में यदि आप अपनी डाइट में टमाटर और खीरा शामिल करते हैं तो यूरिक एसिड को कंट्रोल करने में मदद मिलती है। आइए जानते हैं यूरिक एसिड कंट्रोल करने के लिए टमाटर और खीरा कब खाएं-

टमाटर और खीरा कैसे यूरिक एसिड को करता है कंट्रोल: टमाटर और खीरा में एंटीऑक्सीडेंट मौजूद होता है जो यूरिक एसिड को कंट्रोल करने में मदद करता है। इसके अलावा इन फूड्स में प्यूरिन की मात्रा भी नहीं होती है, इसलिए यह यूरिक एसिड के मरीजों के लिए नुकसानदायक नहीं होता है। इतना ही नहीं टमाटर और खीरा में विटामिन्स भी उच्च मात्रा में मौजूद होता है जो यूरिक एडिट में कारण होने वाले दर्द और सूजन को भी कम करता है।

टमाटर और खीरा डाइट में कब शामिल करें: यूरिक एसिड कंट्रोल करने के लिए डाइट में टमाटर और खीरा लंच से पहले शामिल करें। सलाद के रूप में भी आप इसका सेवन कर सकते हैं। इसके अलावा कच्चा खीरा या टमाटर खाना भी सेहत के लिए फायदेमंद होता है। टमाटर को आप सब्जी में डाल सकते हैं और खीरा का रायता बनाकर भी खा सकते हैं।

फाइबर वाला फूड: फाइबर वाले फूड्स को खाने से कई स्वास्थ्य लाभ मिलते हैं। उच्च फाइबर वाले भोजन से आप बढ़े हुए यूरिक एसिड के लेवल को भी कंट्रोल कर सकते हैं। यह हमारे शरीर में यूरिक एसिड को सोखने का काम करता है। दाल, फ्लेक्सीड, ब्रोकली, सेब, नाशपाती आदि उच्च फाइबर वाले आहार हैं।

हरा धनिया: धनिया में एंटीऑक्सीडेंट्स उच्च मात्रा में मौजूद होता है और यह एक तरह से डाइयूरेटिक की तरह काम करता है। इसका व इसके जूस का भरपूर सेवन करना गठिया और अन्य तकलीफों से निजात दिलाएगा।

यह भी पढ़े-

ब्लड प्रेशर के मरीजों के लिए फायदेमंद है कीवी, तनाव दूर करने में भी सक्षम – जानिये