खाने में बढ़ाएं ये लाइफ कंटेंट स्वस्थ रहने के लिए, फायदे जानकर हो जायेंगे हैरान

सबसे पहले तो आप ये जान लें कि भोजन में जीवन तत्व होने के क्‍या फायदे हैं। जिन लोगों के भोजन में जीवन तत्व जितना ज्यादा होता है उनका तन और मन उतना ही शांत और स्थिर रहता है। ऐसे लोगों में बेचैनी, डर, तनाव और गुस्सा दूसरों के मुकाबले कम होता है।

क्या होता है मृत तत्व या डेड कंटेंट  : लाइफ कंटेट को जानने से पहले डेड कंटेंट को जान लेंगे तो बात आसानी से दिमाग से घुस जाएगी। यह बातें आयुर्वेदिक भोजन संस्कृति से जुड़ी हुई हैं। उसके मुताबिक जिस भोजन को जितनी ज्यादा अग्नी दी जाती है कहने का मतलब पकाया जाता है उसमें उतना ही मृत तत्व बढ़ जाता है।

हम जब भोजन को करारा और लाल कर रहे होते हैं तो उस वक्त हम दरअसल उसमें कार्बन की मात्रा बढ़ा रहे होते हैं। इसे आप यूं समझ सकते हैं कि अगर हम दाल को आग पर रखा छोड़ दें तो आखिरी में वो राख में तब्दील हो जाएगी। यानी सबकुछ खत्म। इसी लिहाज से देखें तो खाने पीने की जिस भी चीज को ज्यादा देर तक आग पर रखा जाएगा उसमें डेड कंटेंट या यानी मृत तत्व बढ़ जाएगा। ऐसा भोजन हमारी भूख मिटा देगा मगर भोजन का काम सिर्फ भूख मिटाना नहीं होता। उसमें वो सभी रस होने चाहिएं जिनकी हमारे शरीर को जरूरत है।

बात सिर्फ पकाने की नहीं है बासी खाने या बहुत लंबे समय तक फ्रीज करके रखी गई सब्जियों व फलों में भी डेड कंटेंट बढ़ जाता है। तभी तो आपने अक्सर सुना होगा कि लोग ताजे मौसमी फल खाने की सलाह देते हैं। मांसाहारी भोजन से इसीलिए परहेज करने को कहा जाता है क्योंकि एक तो वैसे ही वो किसी जीव का मृत शरीर होता है और उसके बाद उसे खूब पकाया भी जाता है।

जीव अपनी इच्छा से जान नहीं देता उसे मारा जाता है। इसके उलट फल पकने के बाद अपने आप डाली से अलग हो जाते हैं क्योंकि प्रकृति का यही नियम है। फल में बीज होता है और बीज में जीवन होता है। फल सड़ने और सूखने के बाद नए पौधे को जन्म देता है मगर किसी भी जीव के मृत शरीर से नया जीवन शुरू नहीं हो सकता। इसीलिए नॉन वेज को नकारने की सलाह दी जाती है।

भोजन में जीवन तत्व यानी लाइफ कंटेंट कैसे बढ़ाएं :  हमेशा ताजा फल, ताजी सब्जियां खाने की कोशिश करें। बेमौसम के फलों और बेमौसम की सब्जियों की बजाए मौसम के हिसाब से आने वाली सब्जियां फल खाएं। बासी खाना एवॉइड करें और खाने को बार बार गर्म न करें। एक बात ध्यान रखें कि ब्रेड, बिस्कुट जैसी चीजें भी बासी भोजन में ही काउंट होती हैं।

खाने को जरूरत से ज्यादा न पकाएं। जिन सब्जियों को बिना पकाए खा सकते हैं उन्हें बिना पकाए खाएं। जो लोग बाहर से दूध खरीदते हैं उनकी बात अलग है मगर जिन लोगों के घर पर गाय भैंस है वो जब भी संभव हो कच्चा दूध पिएं।

अनाज में जीवन तत्व बढ़ाने का सबसे अच्छा तरीका होता है उसे अंकुरित कर लेना। अपने खाने में अंकुरित बीजों और अनाज को जरूर शामिल करें। आप चने, मूंग वगैरा को अंकुरित कर खा सकते हैं। इनमें भरपूर जीवन तत्व होता है।

यह भी पढ़ें-

जानकर हो जायेंगे हैरान, सेहत के लिए आलू का छिलका होता है बेहद लाभदायक