भारत का चीन को जवाब, J&K और लद्दाख भारत के अभिन्न अंग थे, हैं और रहेंगे

लद्दाख पर चीन की ओर से की गई टिप्पणी का भारत ने दो टूक जवाब दिया हैं। गुरुवार को विदेश मंत्रालय की तरफ से कहा गया कि केंद्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर और लद्दाख भारत के अभिन्न अंग थे, हैं और रहेंगे। इसलिए हम उम्मीद करते हैं कि दूसरे देश भारत के आंतरिक मामलों पर टिप्पणी नहीं करेंगे। जिस तरह वह दूसरों से इस तरह की उम्मीद करते हैं। विदेश मंत्रालय ने कहा चीन के पास भारत के आंतरिक मामलों पर टिप्पणी करने का अधिकार नहीं है।

बता दे लद्दाख सहित सीमा क्षेत्रों में नए पुलों के निर्माण से चीन की बौखलाहट तेज हो गई हैं। अपनी सीमा में इन्फ्रास्ट्रक्चर विकसित कर चुका चीन भारत की तरफ से भी ऐसा होते देख बैचेन है और उसे यह सब हजम नहीं हो रहा हैं। गौरतलब है मंगलवार को चीनी विदेश मंत्रालय ने सैन्य निरीक्षण और नियंत्रण के उद्देश्य से भारत की तरफ से किये जा रहे इन्फ्रास्ट्रक्चर विकास का विरोध किया था। जिसके बाद आज भारत के विदेश मंत्रालय ने उसे करारा जवाब दिया हैं।

चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता लिजियान ने भारत द्वारा सीमा पर बनाए गए पुलों को लेकर सवाल के जवाब में कहा, ”किसी भी पक्ष को इलाके में ऐसा कोई कदम उठाना चाहिए जिससे स्थिति जटिल हो। चीन सैन्य निरीक्षण और नियंत्रण के उद्देश्य से किसी भी इन्फ्रास्ट्रक्चर विकास का विरोध करता है।

यह भी पढ़े: सर्दियों से पहले से ही PAK कर रहा घुसपैठ का प्रयास, सेना ने नाकाम किये मंसूबे
यह भी पढ़े: नेपाली PM ओली ने उठाया बड़ा कदम, भारत के साथ संबंध सुधारने का प्रयास

Loading...