दुश्मनी पाल रहे नेपाल को भारत की मदद, कोरोना में मदद को दिए 10 वेंटिलेटर

चीन के हाथों की कटपुतली बन चुका नेपाल भारत के साथ लगातार विवाद बढ़ाने में लगा है। वही दूसरी तरफ भारत इन सब से परे अपने पड़ोसियों की मदद कर रहा है। दुनियाभर में बढ़ते कोरोना संकट के बीच भारत और नेपाल के बिगड़ते रिश्तों की चर्चा हर तरफ है। लेकिन भारत लगातार एक जिम्मेदार देश की भूमिका निभा रहा है। इसी कड़ी में भारत ने चीन के इशारे पर काम कर रहे नेपाल के लिए कोरोना के खिलाफ जंग में मदद को 10 वेंटिलेटर सौंपे हैं।

बता दे नेपाल में कोरोना संक्रमितों की संख्या 22 हजार से अधिक हो चुकी है। नेपाल के प्रमुख अखबार काठमांडू पोस्ट की एक रिपोर्ट के मुताबिक, देश में बढ़ते कोरोना मरीजों की वजह से हॉस्पिटल फुल हो चुके है और स्वास्थय संसाधन कम पड़ रहे है। ऐसे में भारत ने रविवार को नेपाल को 10 वेंटिलेटर सौंपे।

काठमांडू में भारत के राजदूत विनय मोहन कवत्रा ने सेना मुख्यालय में चीफ ऑफ आर्मी स्टाफ जनरल पूर्ण चंद्र थापा को ये वेंटिलेटर नेपाल को सौंपे हैं। गौरतलब है नेपाल और भारत दोनों देशों का लंबे समय से अच्छा रिश्ता रहा है। तमाम मुश्किलों में दोनों देश एक-दूसरे के साथ मजबूती से खड़े हुए नजर आते रहे है। लेकिन पिछले कुछ महीनों से चीन के इशारे पर नेपाल के पीएम ओली ने देश के नक़्शे में भारतीय क्षेत्रों को शामिल कर विवाद उत्पन्न कर लिया है।

यह भी पढ़े: पार्टी को दिशाहीन होने से बचाने के लिए कांग्रेस जल्द चुने नया अध्यक्ष: शशि थरूर
यह भी पढ़े: ओली शर्मा ने किया दावा, नेपाल में है असली अयोध्या, प्रचार-प्रसार करने के दिए आदेश