इंग्लैंड को 40 रनों से हराकर सेमीफाइनल में पहुंचे इंडिया लीजेंड्स

इंडिया लीजेंड्स ने कप्तान सचिन तेंदुलकर के नेतृत्व में अपने हरफनमौला प्रदर्शन के दम पर यहां के राजीव गांधी इंटरनेशनल स्टेडियम में गुरुवार को इंग्लैंड लीजेंड्स को 40 रनों से हराकर रोड सेफ्टी वर्ल्ड सीरीज 2022 के सेमीफाइनल में जगह बनाई। इंडिया लीजेंड्स सेमीफाइनल में पहुंचने वाली पहली टीम है।

इंडिया लीजेंड्स, श्रीलंका और वेस्टइंडीज लीजेंड्स के 6-6 अंक हैं लेकिन बेहतर नेट रन रेट (+3.050) के कारण सचिन की टीम ने अंतिम-4 राउंड का टिकट कटा लिया। इंडिया लीजेंड्स ने चार में से दो मैच जीते हैं जबकि उसके दो मैच बारिश में धुल गए थे। इंडिया लीजेंड्स ने वर्षा बाधित मैच में इयान बेल की कप्तानी में खेल रही इंग्लैंड टीम को 15 ओवर में 171 रनों का लक्ष्य दिया था, जिसका पीछा करते हुए इंग्लैंड टीम 15 छह विकेट पर 130 रन ही बना सकी।

दिमित्री मास्करेनहास (12) और फिल मस्टर्ड (29 रन, 19 गेंद, 4 चौके, 1 छक्का) ने अच्छी शुरुआत करते हुए पहले विकेट के लिए 20 गेंदों पर 36 रन जोड़े लेकिन इसके बाद इंग्लिश टीम लय से भटक गई और लगातार अंतराल पर विकेट गंवाए। 10.1 ओवर में मेहमान टीम ने 85 रनों पर 6 विकेट गंवा दिए, जिसमें राजेश पवार के 3 विकेट शामिल थे।

85 के रन पर जेम्स टिंडाल का विकेट गिरने के बाद क्रिस ट्रेमलेट ( नाबाद 24 रन, 2 चौके, 1 छक्का) और क्रिस स्कोफील्ड (नाबाद 19 रन, 13 गेंद, 3 चौके) ने कोई नुकसान नहीं होने दिया लेकिन वे अपनी टीम को जीत तक नहीं पहुंचा सके। इस तरह इंग्लिश टीम को चार मैचों में तीसरी हार मिली, जबकि एक मैच बारिश में धुल गया था। इंडिया लीजेंड्स की ओर से स्टुअर्ट बिन्नी, मनप्रीत गोनी और प्रज्ञान ओझा ने एक-एक सफलता हासिल की।

इससे पहले, इंडिया लीजेंड्स ने टॉस हारने के बाद पहले बल्लेबाजी करते हुए शानदार शुरुआत की और प्रति पारी 15 ओवर तक सीमित किए गए मैच में 5 विकेट पर 170 रन बनाए। कप्तान तेंदुलकर (40) और नमन ओझा (20) ने पहले विकेट के लिए 34 गेंदों पर 65 रन जोड़े।

सचिन ने अपनी पारी वहीं से शुरू की, जहां इंदौर में न्यूजीलैंड के खिलाफ बारिश से धुले मैच में खत्म की थी। साथ ही नमन भी बेहतरीन लय में दिख रहे थे। सचिन ने अपनी 20 गेंदों की पारी में 3 चौके और इतने ही छक्के लगाए। इंडिया लीजेंड्स ने पहला विकेट नमन के रूप में छठे ओवर में गंवाया। नमन ने अपनी 17 गेंदों की पारी में दो चौके और एक छक्का लगाया। सचिन 67 के कुल योग पर आउट हुए।

सुरेश रैना (12) और स्टुअर्ट बिन्नी (18) बड़ी पारी नहीं खेल सके लेकिन युसुफ पठान (27) ने 11 गेंदों की अपनी तूफानी पारी में एक चौका और तीन छक्के लगाए। युवराज सिंह ने अपने ट्रेडमार्क तीन छक्कों के साथ 14 गेंदों का सामना कर नाबाद 31 रन बनाए। इरफान पठान 11 रनों पर नाबाद रहे। इंग्लैंड लीजेंड्स की ओर से स्टीफन पेरी ने तीन विकेट लिए जबकि क्रिस स्कोफील्ड को एक सफलता मिली। स्कोफील्ड ने ही सचिन को अपनी गेंद पर लपका था।

यह भी पढ़े: ब्रिटिश दूतावास को येरूसलम स्थानांतरित करने ट्रस