पड़ोसी देशों को टीके की 1 करोड़ खुराक दान करेगा भारत, पाकिस्तान का नाम नहीं

दुनियाभर में कोरोना के खिलाफ जंग जारी हैं। सभी देश इस वक्त वैक्सीन की आपूर्ति करने में जुटे हुए हैं। भारत ने भी दो टीकों के साथ इस महामारी के खिलाफ अपनी निर्णायक लड़ाई को तेज कर दिया हैं। लेकिन इस संकट के समय में भारत अपने पड़ोसी देशों की मदद करने के लिए तत्पर हैं। भारत अफगानिस्तान, भूटान, बांग्लादेश, नेपाल, श्रीलंका, मालदीव और मॉरीशस को वैक्सीन की 10 मिलियन यानी 1 करोड़ खुराक दान की योजना बना रहा है।

भारत ने बायोटेक की कोवैक्सीन और सीरम इंस्टीट्यूट की कोविशील्ड को आपात इस्तेमाल की मंजूरी प्रदान की हैं। जिसके बाद देश में टीकाकरण अभियान शुरू हो चुका है। सूत्रों के मुताबिक भारत उन देशों को कोरोना टीकों की लगभग 10 मिलियन (1 करोड़) खुराक का दान करने की योजना बना रहा है, जिनके साथ उसके अच्छे मित्र संबंध हैं। अपनी जरूरतों के बाबजूद भी भारत डिप्लोमेटिक संबंधों को बेहतर बनाने के लिए इस पर विचार कर रहा है।

बता दें कि भारत पड़ोसी देशों की मदद कर न सिर्फ मानवता धर्म निभा रहा है, बल्कि अपनी डिप्‍लोमेसी को भी एक नया आयाम दे रहा है। एक तरफ भूटान के प्रधानमंत्री लोटे शेरिंग ने स्पष्ट किआ हैं कि भारत सरकार द्वारा उनके देश को फ्री कोरोना वैक्सीन उपलब्ध करवाने का वादा किया गया हैं। न सिर्फ भूटान बल्कि भारत अपने सबसे करीबी बांग्लादेश और नेपाल को भी फ्री वैक्सीन उपलब्ध करवाएगा। जिसका असर पड़ोसियों के साथ संबंधों पर पडेगा।

यह भी पढ़े: गलती से भी न करें पेट के बल सोने की भूल, वरना…
यह भी पढ़े: सिर्फ कमजोरी नहीं है हाथ-पैरों का कांपना,जानें इसके अन्य कारण