पांच मॉडल के तहत वैक्सीन बांटेगा भारत, PAK को नहीं मिलेगी रत्तीभर भी मदद

भारत में वैक्सीन आपूर्ति को लेकर सरकार द्वारा वैश्विक योजना तैयार की गई है। जिसमें पड़ोसियों और गरीब देशों की मदद करना भी शामिल है। सरकारी अधिकारी नीति आयोग के डॉक्टर वीके पॉल के नेतृत्व वाले टीकों पर जानकारों के परामर्श से योजना को अंतिम रूप देने पर काम कर रहे हैं।

योजना से जुड़े अधिकारियों का कहना है कि योजना में पड़ोसी देशों को शामिल करने में सावधानी बरती जाएगी। योजना में पांच मॉडल पर विचार किया जा रहा है, जिसमें पहला मॉडल है फ्री वैक्सीन बांटना है। इसमें बांग्लादेश, अफगानिस्तान जैसे देशों को शामिल किया जा सकता है।

अधिकारियों ने बताया कि अभी इस योजना में पाकिस्तान को हिस्सा नहीं बनाया जा रहा है। ऐसे में पाकिस्तान संभवतया चीन की वैक्सीन पर निर्भर रहेगा। दूसरे मॉडल में भारत अपने अंतरराष्ट्रीय दायित्वों के तहत गरीब देशों को भारी रियायतों के साथ टीकें बंटेगा। जिससे कई अफ्रीकी देशों को लाभ मिलेगा।

तीसरे मॉडल में प्राप्तकर्ता देश शामिल हैं, जो बाजार मूल्य पर वैक्सीन को खरीदेंगे और उन्हें आपूर्ति का पूर्ण आश्वासन दिया जाएगा। वही चौथे मॉडल में कुछ देशों से भारत के तीसरे चरण के परीक्षणों में भाग लेने के लिए संपर्क साधा जाएगा। अंत में पांचवे मॉडल में भारत कुछ देशों को दो घरेलू वैक्सीन के उत्पादन का मौका देने पर विचार कर रहा है। ऐसा करने से वैक्सीन के उत्पादन में तेजी आएगी और इसका लाभ अधिक से अधिक लोगों को मिल सकेगा।

कहा जा रहा है कि जब और वैक्सीन तैयार की जाएगी तो वो खुले बाजार में नहीं बेची जाएगी। सरकार उसे एक सख्य नियंत्रित चैनल के माध्यम से वितरित करेगी। वैक्सीन आपूर्ति की पूरी योजना और प्रक्रिया केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण की अध्यक्षता में होगी।

यह भी पढ़े: कोरोना वैक्सीन के लिए भारत की वैश्विक योजना तैयार, मजबूत होंगे पड़ोसियों से संबंध
यह भी पढ़े: लोगों को पड़ सकती है कोरोना वैक्सीन के दो डोज की जरुरत: अमेरिकी वैज्ञानिक

Loading...