उच्च शिक्षण संस्थानों की भारत रैंकिंग 2000 जारी, दंत चिकित्सा संस्थानों को पहली बार किया गया शामिल

मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने उच्च शिक्षण संस्थानों की भारत रैंकिग 2000 जारी की है। इंजीनियरिंग में आईआईटी मद्रास, विश्व विद्यालय में इंडियन इंस्टीटूयूट ऑफ साइंस बेंगलूरू, प्रबंधन श्रेणी में इंडियन इंस्टीटूयूट ऑफ मेनेजमेंट में सर्वोच्च हैं। अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान मेडिकल श्रेणी में लगातार तीसरे साल सर्वोच्च श्रेणी में बना हुआ है।

कॉलेजों में मिरांडा कॉलेज लगातार तीसरी बार प्रथम स्थान पर है। दंत चिकित्सा के क्षेत्र में मौलाना आजाद इंस्टीटूयूट ऑफ डेन्टल कॉलेज पहले स्थान पर हैं। दंत चिकित्सा संस्थानों को पहली बार भारत रैंकिंग 2020 में शामिल किया गया था।

रमेश पोखरियाल ने कहा कि इस रैंकिंग से विश्व विद्यालयों को विभिन्न मानकों पर सुधार, करने का अवसर मिलेगा और शोध के क्षेत्र में कमियों की पहचान और उसे सुधारने में मदद मिलेगी। उन्होंने कहा कि इस रैंकिंग से देश में विश्व विद्यालयों के बीच बेहतर करने के लिए प्रतियोगिता होगी और वे अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर रैंकिंग प्राप्त करने का प्रयास करेंगे।

पोखरियाल ने कहा कि मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने राष्ट्रीय संस्थागत रैंकिंग फ्रेमवर्क का गठन किया है जो विभिन्न विश्व विद्यालय के पांच साल के पूर्व विभिन्न मानकों और ज्ञान के क्षेत्र में किए गए कार्यों  की समीक्षा कर रही हैं। उन्होंने कहा कि इससे संस्थानों में आंकड़ो को एकत्र करने के लिए प्रतियोगिता होगी और सभी संस्थान एक दूसरे से आगे निकलने का प्रयास करेंगे। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय संस्थागत रैंकिंग फ्रेमवर्क ने कई क्षेत्रों में मानकों की पहचान की है जो शिक्षण, अधिगम, संसाधन, अनुसंधान और व्यवसायिक अभ्यास आदि के क्षेत्र में उच्च शिक्षण संस्थानों के लिए महत्वपूर्ण है।

यह भी पढ़ें:

जुआ खेलने के आरोपी गधे को पाकिस्तान में मिली जमानत, चार दिन खानी पड़ी हवालात की हवा

लगातार बढ़ते जा रहे हैं लव जिहाद के मामले, दबाव बनाकर किया जा रहा है मतांतरण और देहशोषण