खमीर उत्पादन में आत्मनिर्भर बनेगा भारत, उप्र में 400 करोड़ निवेश करेगी ये कंपनी

भारत को पहले खमीर का अधिकतर मात्रा में आयात करना पड़ता था। लेकिन अब देश आत्मनिर्भर बनेगा और खुद खमीर का निर्यात भी कर सकेगा। इसके लिए बुंदेलखंड के चित्रकूट में ब्रिटिश कंपनी एबी मोरी 400 करोड़ का निवेश करने जा रही हैं। मेगा औद्योगिक यूनिट की स्थापना के लिए यूपीसीडा ने कंपनी को 68 एकड़ जमीन भी आवंटित कर दी हैं। यूपीसीडा के सीईओ मयूर माहेश्वरी के मुताबिक इससे प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से पांच हजार रोजगार मिलेंगे।

माहेश्वरी ने बताया कि चित्रकूट के बरगढ़ इलाके में मिली इस जमीन पर कंपनी द्वारा जर्मन एवं स्पेन की मशीनें लगेंगी। जिनसे 33 हजार मिलियन टन खमीर का उत्पादन किया जाएगा। खमीर उत्पादन की सारी प्रक्रिया जीरो लिक्विड डिस्चार्ज पर बेस्ड होगी। बता दे कंपनी ने निवेश मित्र पोर्टल के माध्यम से महज 15 दिनों के अंदर जमीन का आवंटन सस्ती दरों पर किया है। गौरतलब हैं कि ब्रिटिश कंपनी एबी मोरी खमीर उत्पादन में विश्व की सबसे बड़ी अग्रणी कंपनी हैं।

एबी मौरी का सालाना टर्नओवर 1.2 बिलियन यूएस डॉलर का है। कंपनी ने 32 देशों में 52 प्लांट लगाए हैं। यूपीसीडा के सीईओ के मुताबिक दुनिया का 45 प्रतिशत खमीर उत्पादन एबी मोरी ही करती हैं। खमीर उत्पादन के लिए गन्ना और गेहूं इस्तेमाल होता हैं, ऐसे में स्थानीय किसानों को काफी फायदा होगा।

यह भी पढ़े: ये हैं हार्ट ब्लॉकेज के घरेलू इलाज
यह भी पढ़े: सर्दियों में होते हैं हार्ट अटैक के खतरे, जानिए इस से बचने के उपाय !