भीषण सर्दी में भी लद्दाख में जमी रहेगी इंडियन आर्मी, चीन पर नहीं रत्तीभर भरोसा

भारत को अब सीमा विवाद के मामले में चीन पर भरोसा नहीं रहा है। यही वजह है कि भारतीय सेना ने अब भीषण सर्दी में भी लद्दाख में पैर जमाए रखने का निर्णय किया है। चीन की चालबाजी को देखते हुए भारतीय सेना के जवान चीनी सेना के मंसूबे को ध्वस्त करने की तैयारी में लग गए हैं। भयंकर सर्दी में भी चीन को चुनौती देने के लिए भारत के जवान लद्दाख में पेट्रोलिंग करते रहेंगे। दरअसल चीनी आर्मी मौकापरस्त है जो मौका मिलते ही भारत के क्षेत्र में आ जाती है।

चीनी पीपुल्स लिबरेशन आर्मी लद्दाख सेक्टर में अप्रैल अंत में वास्तविक नियंत्रण रेखा से थोड़ा आगे अपना डेरा जमाये हुए है। अब वह वहां से पूरी तरह हटने के मूड़ में दिखाई नहीं दे रही है। ऐसे में भारत नहीं चाहता कि चीन के साथ फिर से सीमा विवाद हो इसलिए भारतीय सेना ने भीषण सर्दियों में वहां नजरें गड़ाए रखने का निर्णय लिया है। इसके लिए भारतीय सेना ने कमर कस ली है और जवानों को सर्दी के प्रकोप से बचाने के लिए भी अभी से प्रयास शुरू कर दिए है।

भारतीय सेना ने अमेरिका, रूस और यूरोप के दूतावासों में तैनात अपने रक्षा सहयोगियों से गर्म कपड़ें और स्नो टेंट निर्माताओं की पहचान करने के लिए कहा है ताकि आपातकालीन स्थिति में उन्हें खरीदा जा सके। साथ ही भारत लगातार विवादित क्षेत्र में जवानों की संख्या में इजाफा करने में लगा हुआ है।

यह भी पढ़े: फरहान अख्तर निभाएंगे अंतरिक्ष यात्री राकेश शर्मा का किरदार, फाइनल हुआ नाम
यह भी पढ़े: 30 सेकेंड में पता चलेगा कोरोना लक्षण, भारत और इस्रायल मिलकर कर रहे काम