इंदिरा गांधी राष्ट्र कला केंद्र ने की ‘भारतीय कलात्मक अभिव्यक्ति में योग’ प्रदर्शनी शुरू

इंदिरा गांधी राष्ट्रीय कला केंद्र ने अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर मंगलवार को ‘भारतीय कलात्मक अभिव्यक्ति में योग’ विषयक प्रदर्शनी का आयोजन शुरू किया। प्रदर्शनी का उद्घाटन कला केंद्र के अध्यक्ष और वरिष्ठ पत्रकार रामबहादुर राय ने की।

केंद्र में कला दर्शन विभाग की अध्यक्ष डॉ. ऋचा कंबोज ने बताया कि प्रदर्शनी दर्शकों के लिए 25 जून तक खुली रहेगी। इस प्रदर्शनी में भारतीय सनातन परंपरा में विष्णु अवतार से लेकर बौध और जैन मुनियों तक की विभिन्न मुद्राओं में योग को देखा जा सकता है।


कला केंद्र के मीडिया नियंत्रक अनुराग पुनेठा के मुताबिक, प्रदर्शनी के उद्घाटन के पूर्व आज प्रातः योगाचार्यों की देखरेख में चल रहा अभ्यास भी पूर्ण हुआ। ज्ञातव्य है कि सोमवार को सुप्रसिद्ध नृत्य शास्त्री पद्मविभूषण सोनल मानसिंह ने कला केंद्र के सभागार में ही ‘योग दर्शन’ नामक प्रस्तुति की थी।

आगामी 25 जून तक चलने वाली प्रदर्शनी की विशेषता यह है कि इसमें दुनियाभर के संग्रहालयों में संरक्षित प्रतिमाओं के चित्र के जरिए योग यात्रा को दर्शाया गया है। इनमें लॉस एंजिलिस काउंटी म्यूजियम ऑफ आर्ट ,मेट्रोपोलिटन म्यूजियम (यू एस ए), क्लीवलैंड म्यूजियम ऑफ आर्ट, एशियन आर्ट म्यूजियम ऑफ सानफ्रांसिसको, ब्रिटिश म्यूजियम,पोर्टलैंड ऑर्ट म्यूजियम, बिक्टोरिया एंड अलबर्ट म्यूजियम, आशमोलियन म्यूजियम आदि में रखी प्रतिमाओं के भी चित्र हैं।

इसके अलावा अथर्ववेद, ऋगवेद, महोपनिषद, श्वेताश्वर उपनिषद, योग शिखोपनिषद, याज्ञवल्क्य स्मृति, मनुस्मृति, पतंजलि योग सूत्र, न्याय सूत्र,वैशेषिक और सांख्य सूत्र के साथ श्रीमद्भागवत गीता से लिए योग के उद्धरण भी इस प्रदर्शनी में देखे जा सकते हैं।

यह भी पढ़ें:-

Realme GT Neo 3T जल्दी होने वाला है भारत में लॉन्च, आप भी जानिए क्या है खबर