दांत की जड़ों के संक्रमण से बढ़ जाता है दिल की बीमारियों का खतरा

close-up of a young woman holding her cheek in pain

आजकल के व्यस्त समय में लोगों के लाइफस्टाइल में तेजी से बदलाव आ रहा है जिसके कारण से दिल की बीमारियों का खतरा बढ़ता जा रहा है। अगर आप दिल की तमाम तरह की बीमारियों से बचना चाहते हैं तो अपने दांतों का ख्याल अच्छी तरह रखें।

दांत की जड़ों के ऊपरी भाग में होने वाले संक्रमण से दिल की बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है। यह संक्रमण बेहत ही सामान्य और लक्षणरहित होता है जिस पर शायद ही लोगों का ध्यान जाता है। ऐसे में इसका इलाज नहीं करने पर ये घातक रोग बन जाता है।

दांतों के जड़ों के उपचार की जरूरत वाले रोगियों को अगर चिकित्सा नहीं मिलती है तो उनमें बगैर इस विकार वाले रोगियों की तुलना में एक्यूट कोरेनरी सिंड्रोम का खतरा 2.7 प्रतिशत तक बढ़ जाता है। ‘दांतों के जड़ों में संक्रमण एपिकल पीरियडोंटाइटिस की बीमारी है।

इस बीमारी में दांत की जड़ के ऊपरी भाग के चारों ओर एक तेज संक्रमण और दर्द होता है। इस बीमारी का प्रमुख कारण दांतों में सड़न का होना है।

 

यह भी पढ़ें-

संगीत है बेस्ट स्ट्रेस रिमूवल थेरेपी !