Breaking News
Home / जोक्स / कोरोना वायरस और डेंगू के बीच हुई तीखी बहस

कोरोना वायरस और डेंगू के बीच हुई तीखी बहस

डेंगू – नमस्ते कोरोना भाई! क्या बात है उदास बैठे हो?

कोरोना – नमस्ते भाई डेंगू। मेरी कोई इज्जत ही नहीं हो रही इसलिए।

Loading...

डेंगू – इज्जत ही नहीं हो रही ? तुम्हारे तो पूरी दुनिया भर में जलवे हैं। जहां जा रहे हो लोग डर कर बस कोरोना कोरोना ही जप रहे हैं।

कोरोना – यार डेंगू, तुम्हारे देश इंडिया में मेरी कोई इज्जत नहीं कर रहा। जिसे देखो वही मेरे ऊपर जॉक मार रहा है।

डेंगू – हां भाई ,दरअसल हम भारतीय फिक्र को धुएं में और तकलीफ को हंसी में उड़ाने में माहिर होते हैं।वैसे भारतीय मीडिया पर छाए हुए हो यार!

कोरोना – हम्म,लोग तो मीडिया का ही माखौल उड़ाते रहते हैं।फिर मेरी क्या हस्ती!अच्छा यह बताओ ,तुम्हारे यहां तो ‘ अतिथि देवो भव ‘ कहा जाता है न! फिर मेरे साथ ऐसा क्यों?

डेंगू – भाई ऐसा है कि तुम एक वामपंथी देश को पैदाइश हो और यहां गवर्मेंट इसके ठीक उलट दक्षिणपंथ की है।

कोरोना – लेकिन यहां के चंद वामपंथी भी मुझे नहीं पूछ रहे।

डेंगू – वे भारतीय वामी हैं भाई। अपने देश से गद्दारी नहीं कर सकते।

कोरोना – फिर मुझे तुम्हारा देश जल्दी ही छोड़ने को मजबूर होना पड़ेगा।

डेंगू – हां भाई,जितनी जल्दी हो सके चले जाओ।नहीं तो लोग तुम्हें धतूरा खिलाना शुरू कर देंगे।

कोरोना – अब यह धतूरा क्या है ?

डेंगू – खाते ही पगला जाओगे। हमारे भोले बाबा ही हैं जो खाकर पचा सकते हैं और कोई ऐसा नहीं कर सकता।

कोरोना – उनके पास गंगा है डेंगू भाई।हर तरह से शीतल करने वाली,हर जहर को अपने में समाहित करने वाली।

डेंगू – बहुत ज्ञानी ही भाई। वैसे गंगा तो हर भारतीय के पास भी है।

कोरोना – भूलो मत ,हिंदी चीनी भाई भाई।

डेंगू – अबे पागल बनाता है चमगादड़ की औलाद! साले भाग वरना चमगादड़ की तरह उल्टा लटका तुझ पर चढ़ जाऊंगा।

कोरोना – जाता हूं। लेकिन अब कभी नहीं आऊंगा। तुम बुलाओगे तब भी नहीं।

डेंगू – भाग जल्दी। हम तुझे बुलाएंगे नहीं भुलायेंगे।

यह भी पढ़ें:

जोक्स: हिंदी के इन Silent शब्दों के बारे में जानकर हँसते-हँसते लोटपोट हो जायेंगे आप

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *