राकेश झुनझुनवाला के पोर्टफोलियो के इस शेयर को लगातार बेच रहे निवेशक, जानिए क्या है वजह?

एस्कॉर्ट्स के शेयरों में आज लगातार दूसरे दिन गिरावट आई है। कंपनी के शेयर आज फिर लाल निशान पर कारोबार कर रहे हैं। दरअसल, शेयरों में यह गिरावट तिमाही नतीजों के बाद है। कंपनी ने Q1FY23 के लिए खराब प्रदर्शन की सूचना दी। जून 2022 को समाप्त पहली तिमाही में इसका स्टैंडअलोन शुद्ध लाभ घटकर ₹147.5 करोड़ हो गया, जबकि एक साल पहले की तिमाही में यह ₹185 करोड़ था।

स्टॉक की कीमत 19% सीएजीआर से बढ़ रही

पिछले पांच सालों में स्टॉक की कीमत लगभग 19% सीएजीआर से बढ़ी है। यह अगस्त 2017 में लगभग ₹670 थी, जो निफ्टी ऑटो इंडेक्स से काफी बेहतर प्रदर्शन कर रही थी। ब्रोकरेज हाउस आईसीआईसीआई सिक्योरिटीज ने वित्त वर्ष 22-24 में कमजोर ट्रैक्टर विकास संभावनाओं और बाजार हिस्सेदारी में गिरावट के साथ-साथ मार्जिन पर दबाव के बीच एस्कॉर्ट्स शेयरों पर होल्ड रेटिंग बरकरार रखी है।

कंपनी का बदला नाम

कृषि मशीनरी और निर्माण उपकरण निर्माता एस्कॉर्ट्स ने पिछले महीने अपना नाम बदल कर एस्कॉर्ट्स कुबोटा लिमिटेड रख लिया। ऐसा इसलिए क्योंकि जापान के कुबोटा कॉरपोरेशन ने एस्कॉर्ट्स में अपनी हिस्सेदारी बढ़ाकर 44.8% कर दी और नए इक्विटी शेयरों की सदस्यता ली। एक अन्य ब्रोकरेज डोलैट कैपिटल को उम्मीद है कि कुबोटा के अधिग्रहण से एस्कॉर्ट्स में काफी सुधार होगा। यह भारत में बाजार हिस्सेदारी बढ़ाने में मदद करेगा

झुनझुनवाला के पास इतने शेयर

एस्कॉर्ट्स कुबोटा लिमिटेड के लेटेस्ट शेयरधारिता पैटर्न के अनुसार, भारतीय दिग्गज निवेशक और शेयर बाजार के कारोबारी राकेश झुनझुनवाला के पास जून 2022 तक ट्रैक्टर निर्माता में 1.39% हिस्सेदारी है।

यह पढ़े: IPO ने किया कमाल: पैसे लगाने वालों को मिला 110% का रिटर्न, ₹186 से बढ़कर ₹393 का हुआ शेयर