पाकिस्तान पर एक और सर्जिकल स्ट्राइक: आतंकियों के खिलाफ बड़े ऑपेरशन को दिया गया अंजाम

आतंकी गुट जैश-उल-अदल के आतंकियों के खिलाफ ईरान के आईआरजीसी ने बड़े ऑपेरशन को अंजाम दिया है। ईरानी गार्ड्स ने एक इंटेलिजेंस ऑपरेशन के बाद पाकिस्तानी आतंकी गिरोह जैश उल अदल के कब्जे अपने उन दो गार्ड्स को मुक्त करा लिया जिन्हें 2018 में आईएसआई की शह पर अगवा किया गया था।

जैश उल अदल वही आतंकी गिरोह है जिसने कुलभूषण जाधव को मार्च 2016 में अगवा किया और फिर बलूचिस्तान में पाकिस्तानी आर्मी के हवाले कर दिया था। पाकिस्तान के इस आतंकी गुट का नाम 29 जनवरी को दिल्ली स्थित इजरायली दूतावास के नजदीक बम ब्लास्ट में भी आया है। जैश उल अदल ने एक मेल भेजकर ब्लास्ट की जिम्मेदारी ली थी।

ईरानी सेना ने पाकिस्तान की सीम में घुसकर सर्जिकल स्ट्राइक को अंजाम दिया। ईरान की सेना ने पाकिस्तान के घर में घुसकर आतंकियों का काम तमाम किया और अपने दो सैनिकों को मुक्त करा लिया। इसके साथ ही ईरान तीसरा देश बन गया है जिसने पाकिस्तान की सीमा के अंदर जाकर आतंकियों को मारा है।

इससे पहले अमेरिका और भारत ने ऐसा किया है। सर्जिकल स्ट्राइक को मंगलवार रात अंजाम दिया गया। सूत्रों ने बताया कि इस ऑपरेशन में कई पाकिस्तानी सैनिक भी मारे गए हैं, जो आतंकवादियों को कवर फायर दे रहे थे।

बताया गया है कि ईरान की रेवोल्यूशनरी गार्ड्स (IRGC) ने खुफिया जानकारी के आधार पर पाकिस्तान के काफी अंदर जाकर ऑपरेशन को अंजाम दिया है। इसमें उन्होंने पाकिस्तान के कब्जे से अपने दो सैनिकों को भी छुड़ा लिया है। IRGC से जुड़े सूत्रों ने बताया कि ईरान के सैनिकों ने पाकिस्तान के अवैध रूप से कब्जाए गए बलूचिस्तान में घुसकर जैश अल-अदल के कब्जे से अपने सैनिकों को मुक्त कराया है।

मुक्त कराए गए ईरानी बॉर्डर गार्ड्स के जवानों को 2018 में अगवा किया गया था और पाकिस्तान समर्थित आतंकवादी समूह ने पाकिस्तान में तब से बंधक बना रखा था। अब सर्जिकल स्ट्राइक के जरिए उन्हें छुड़ा लिया गया है।