Breaking News
Home / ज़रा हटके / इस मंदिर में दान और प्रसाद चढ़ाना है प्रतिबंधित

इस मंदिर में दान और प्रसाद चढ़ाना है प्रतिबंधित

क्या कभी आपने ऐसे मंदिर के बारे में सुना है, जहां प्रसाद और दान प्रतिबंधित है, तो चलिए आज हम आपको श्रीप्रकाशेश्वर महादेव मंदिर के बारे में बताते है। यह मंदिर देहरादून और मसूरी रोड के बीच कुठाल गेट के पास है और यह घंटाघर से 12 किलोमीटर की दूरी पर है।
माना जाता है यह ऐतिहासिक मंदिर नहीं है बल्कि इस मंदिर का निर्माण भगवान शिव के किसी भक्त द्वारा किया गया था।

Loading...

प्रकाशेश्वर महादेव मंदिर देहरादून में शिव मंदिर के नाम से प्रसिद्ध है और ऊंचाई में होने के कारण इस मंदिर से देहरादून के सुंदर दृश्य दिखते हैं। यह मंदिर भगवान शिव को समर्पित है और इस मंदिर में पैसे नहीं चढ़ाने का नियम है। यहां कोई व्यक्ति गुप्त रूप से भी दान नहीं कर सकता और ना ही मंदिर में कोई दान पात्र है।

स्फटिक पत्थर का शिवलिंग है और मंदिर के ऊपर लगभग डेढ़ सौ त्रिशूल बने हैं। प्रकाशेश्वर महादेव मंदिर में दर्शन के बाद आपको प्रसाद के रूप में चाय और खीर दी जाएगी और प्रसाद ग्रहण करने के बाद आपको उस बर्तन को खुद धोकर रखना होगा।

यहां छोटी छोटी दुकाने है, इनमें कई प्रकार के दुर्लभ और शुद्ध रत्नों की अंगूठियां और मालाएं मिलती है। यदि आप आइसक्रीम क्रीम के शौकीन है तो यहां आइसक्रीम की दुकान पर स्पेशल आइसक्रीम मिलती है और अच्छी क्वालिटी की आइसक्रीम पर 40% की छूट दी जाती है।


वैसे तो आप श्री प्रकाशेश्वर मंदिर कभी भी आ सकते हैं लेकिन शिवरात्रि और सावन में यहां श्रद्धालुओं की काफी भीड़ रहती है तो इस समय शिव मंदिर की यात्रा जरूर करें।

अगली बार जब भी मसूरी आएं तो बीच में स्थित प्रकाशेश्वर महादेव मंदिर में चाय जरूर पीकर जाए। इस मंदिर के नजदीक देहरादून चिड़ियाघर, गुच्चुपानी, मसूरी, कैम्पटीफाॅल आदी पर्यटन स्थल में आप घूम सकते है।

हिमाचल में स्थित यह मंदिर कभी 1 स्तंभ पर घूमता था, अब है पुरातत्व विभाग के अधीन

यह मंदिर सात दिन पहले करता है बारिश की भविष्यवाणी

इस मंदिर में शिवलिंग से गायब हो जाता है दूध!

मंदिर जहां मृत भी होते हैं जिंदा

इस मंदिर में लगती है यमराज की कचहरी, होता है व्यक्ति के कर्मों का फैसला

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *