इस राज्य में भारी बारिश का कहर, 8 जिलों में ऑरेंज अलर्ट हुआ जारी

केरल के दक्षिण जिलों में लगातार हो रही मूसलाधार बारिश से शुक्रवार को लोगों को थोड़ी राहत मिली, जबकि मौसम विज्ञान विभाग ने राज्य के उत्तरी हिस्से के आठ जिलों के लिए ‘ऑरेंज अलर्ट’ जारी किया है।

मौसम विभाग ने जारी किया अलर्ट
भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने केरल के इडुक्की, त्रिशूर, पलक्कड़, मलप्पुरम, कोझिकोड, वायनाड, कन्नूर और कसारगोड जिलों के लिए भारी वर्षा का पूर्वानुमान व्यक्त करते हुए ‘ऑरेंज अलर्ट’ जारी किया है। इस बीच, केरल में जल संसाधन मंत्री रोशी ऑगस्टाइन ने पत्रकारों को बताया कि मुल्लापेरियार जलाशय के तीन द्वारा आज खोले जाएंगे ताकि, अतिरिक्त पानी छोड़ा जा सके। राजस्व मंत्री के. राजन ने बताया कि त्रिशूर में चालकुडी नदी में पानी की मात्रा पिछले कुछ घंटों से 7.27 मीटर से अधिक बनी हुई है। उन्होंने कहा कि यह राहत की बात है कि नेल्लियाम्पति क्षेत्र में उतनी बारिश नहीं हुई, जितनी होने की उम्मीद थी।

कितनी हुई अब तक बारिश
राजन ने पत्रकारों से कहा, ‘‘ आईएमडी ने बारिश सबंधी गतिविधियों के अब दक्षिणी कर्नाटक की ओर बढ़ने का पूर्वानुमान लगाया है। आज केरल के उत्तरी जिलों के लिए बारिश संबंधी चेतावनी जारी की गई है। कल इडुक्की में सबसे अधिक बारिश हुई थी। राजन ने कहा, ‘‘ कल केरल में चार से 11 सेंटीमीटर बारिश हुई थी।’’ केरल राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (केएसडीएमए) के अनुसार, राज्य में 31 जुलाई से बारिश व बाढ़ संबंधी घटनाओं में कम से कम 19 लोगों की मौत हुई है। 32 संपत्तियां पूरी तरह और 232 आंशिक रूप से तबाह हो गईं। राज्य में भारी बारिश के मद्देनजर कई जिलों में स्कूल तथा शैक्षणिक संस्थानों में अवकाश की घोषणा की गई है। ‘रेड अलर्ट’ के तहत 24 घंटों में भारी से बेहद भारी बारिश यानी 20 सेंटीमीटर से अधिक बारिश होने की, जबकि ‘ऑरेंज अलर्ट’ के तहत छह सेंटीमीटर से लेकर 20 सेंटीमीटर तक बेहद भारी बारिश और ‘येलो अलर्ट’ के तहत छह से 11 सेंटीमीटर तक भारी बारिश होने की आशंका होती है।

यह भी पढ़ें:

ताइवान पर खुलकर चीन के साथ आ गया रूस, पाकिस्तान भी सदाबहार दोस्त के समर्थन में