क्या सच में कोरोना टीका से हुई ज‍िला अस्‍पताल के वार्ड ब्‍वॉय की मौत?

16 जनवरी से पूरे भारत में कोविड-19 टीकाकरण की शुरुआत हुई थी। मुरादाबाद जिला अस्पताल में भी स्वास्थ कर्मचारियों को वैक्सीन का टीका लगाया गया था। जिला अस्पताल में तैनात महिपाल सिंह ने भी 16 जनवरी को 12 बजे के करीब कोविड वैक्सीन लगवाया था। इसके बाद रात में इमरजेंसी वार्ड में ड्यूटी भी की थी।

रविवार (जनवरी 17, 2021) को ड्यूटी से घर वापस आने के बाद अचानक महिपाल की तबीयत बिगड़ गई। जिसके बाद महिपाल को जिला अस्पताल लाया गया। जहाँ डॉक्टर ने उनको मृत घोषित कर दिया। परिजनों का आरोप है कि कोरोना वैक्सीन की वजह से ही महिपाल की हालत बिगड़ी और मौत हो गई।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी एमसी गर्ग ने पोस्टमार्टम रिपोर्ट का हवाला देते हुए मृतक के परिजनों के दावों को खारिज किया है। उनका कहना है कि कोविड वैक्सीन के टीकाकरण से किसी की मौत संभव नहीं है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के अनुसार, महिपाल की मौत हार्ट अटैक से हुई है।

उन्होंने यह भी बताया कि मुरादाबाद में 479 स्वास्थ्य कर्मियों को कोरोना का टीका लगाया गया था। महिपाल के अलावा सभी की हालत ठीक है।

यह भी पढ़ें:

हिंदुओं की भावनाओं को ठेस पहुंचाने वाली अभिनेत्री सायानी घोष पर FIR दर्ज