आतंकवादी संगठन ISIS ने शेयर की भगवान शिव की खंडित मूर्ति वाली फोटो

ISIS की पत्रिका ‘वॉयस ऑफ हिंद’ ने भगवान शिव की सिर कटे डिजिटल तस्वीर के साथ अपना नया अंक जारी किया है। आतंकवादी संगठन ISIS ने हिंदुओं की भावनाओं को ठेस पहुंचाते हुए पत्रिका ‘वॉयस ऑफ हिंद’ मैगजीन में भगवान शिव की सिर कटे की फोटो वाले पोस्टर को वायरल किया है। इस पोस्टर के वायरल होने के बाद कर्नाटक में सांप्रदायिक रूप से संवेदनशील तटीय जिले उत्तर कन्नड़ में तनावपूर्ण स्थिति पैदा हो गई है। अंशुल सक्सेना ने अपने ट्विटर पर इस तस्वीर को शेयर किया है। जिसमें दिख रहा है कि ISIS द्वारा मैगजीन के पोस्टर में सिर काटे गए शिव की मूर्ति की तस्वीर लगाई गई है।

पोस्टर में दिख रहा है कि भगवान शिव के सिर की जगह पर आईएसआईएस के झंडे को लगाया गया है। साथ ही इस पोस्टर लिखा है-“झूठे देवताओं को तोड़ने का समय आ गया है”। पत्रिका यह ताजा अंक सोशल मीडिया पर चर्चा का विषय बना हुआ। लोग इस तस्वीर को साझा कर सरकार से कर्नाटक के मुरुदेश्वर शिव मंदिर की सुरक्षा बढ़ाने की मांग की है। क्योंकि कवर पर जो तस्वीर छापी गई है वो इसी मंदिर के शिवमूर्ति से मिलती-जुलती है।

बता दें कि मुरुदेश्वर मंदिर तीनों ओर से अरब सागर से घिरा हुआ है। ‘मुरुदेश्वर’ भगवान शिव का ही एक नाम है। इस मंदिर की सबसे खास बात ये है कि इसके परिसर में भगवान शिव की एक विशाल मूर्ति स्थापित है, जिसे दुनिया की दूसरी सबसे विशाल और ऊंची शिव प्रतिमा (मूर्ति) माना जाता है। भगवान शिव की इस विशाल मूर्ति की ऊंचाई करीब 123 फीट है।

यह भी पढ़ें:

बाबा रामदेव के पतंजलि समूह द्वारा नेपाल में दो टीवी चैनल लॉन्च करने के बाद खड़ा हुआ विवाद