जरूरी है बच्चों के लिए पढ़ाई के साथ-साथ खेलना भी

आजकल बच्चों ने जिस प्रकार का लाइफस्टाइल अपना रखा है, उसे देखते हुए उनके लिए खेलना बहुत जरूरी हो गया है। जब बच्चे दूसरे बच्चों के साथ खेलते हैं तो उनके सोशल स्किल्स भी डेवलप होते हैं। उन्हें चीजों को शेयर करना, टीम में काम करना और हार को अपनाना भी आ जाता है। शारीरिक विकास के लिए भी उनका खेलना बहुत आवश्यक है।

ना खेलने के कारण ही अधिकतर बच्चे मोटापे से ग्रसित हैं। फिजिकली रूप से एक्टिव होने पर उनके अंदर ख़ुशी के हार्मोन्स बनते हैं, इस लिए यह बच्चे के मानसिक विकास के लिए भी आवश्यक है। इससे बच्चों की अतिरिक्त एनर्जी भी बैलेंस होती है, और उनकी एकाग्रता भी बढ़ती है।