चोरों के हाथ में सत्ता सौंपने से अच्छा होता परमाणु बम गिराना: इमरान

पाकिस्तान के पूूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान ने कहा कि उनको हटाने के पीछे एक ‘विदेशी राजनीतिक ताकतें’ थीं। उन्होंने कहा कि इन ‘चोरों’ को सत्ता सौंपने से बेहतर था पाकिस्तान पर परमाणु बम गिराना। पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) के अध्यक्ष खान ने शुक्रवार को अपने बनिगला निवास पर संवाददाताओं से बात करने के दौरान अपनी दृष्टीकोण साझा करते हुए यह टिप्पणी की। पत्रकारों ने शनिवार को यहां यह रिपोर्ट जारी किया।

न्यूज इंटरनेशनल ने कहा कि यह साफ हो गया है कि जब वह अपने ट्विट, साक्षात्कार और भाष्ण में ‘निष्पक्ष’ शब्द का जिक्र करते हैं तो उनका मतलब स्थापना से होता है। पूर्व प्रधानमंत्री ने कहा कि वह आंकने में गलत साबित हुए की भ्रष्टाचार सिर्फ एक मुद्दा है।

रिपोर्ट के मुताबिक इमरान ने कहा कि उन्होंने अपना आकलन करने में गलती की, जिसके बाद साजिशकर्ता भी उनको निकालने के प्रति जनता के गुस्से का अंदाजा नहीं लगा सके। रिपोर्ट के अनुसार उन्होंने कहा कि वह देश पर थोपे जा रहे ‘चोरों’ को देखकर बेहद चिंतित हैं। उन्होंने आगे कहा कि इन जैसे लोगों को सत्ता सौंपने से अच्छा है परमाणु बम गिराना। इमरान खान ने कहा कि ‘चोरों’ के सत्ता में आने के बाद सभी संस्थाएं और न्यायिक प्रणाली बर्बाद हो गयी है।

यह भी पढ़े: फिनलैंड के नाटो में शामिल होने पर संबंधों पर पड़ेगा नकारात्मक असरः रूस