JDU और LJP में तेज हुई बयानबाजी, एक-दूसरे को अकेले चुनाव लड़ने की दी चुनौती

बिहार विधानसभा चुनाव जैसे-जैसे नजदीक सामने आ रहे है, वैसे-वैसे अलग-अलग राजनीतिक दलों के बीच की कलह खुलकर सामने आ रही है। इसी बीच एनडीए के घटकदल जदयू और लोजपा के नेताओं ने एक-दूसरे की पार्टी को विधानसभा चुनाव में अकेले लड़ने की चुनौती दे डाली है। सीतामढ़ी से जदयू सांसद सुनील कुमार पिंटू ने लोजपा से मन में गलफत में नहीं रहने को कहा है। उन्होंने कहा यदि लोजपा के मन में संदेह है तो अकेले चुनाव लड़कर देख ले।

पिंटू ने लोजपा के उस बयान पर नाराजगी जताई, जिसमें कहा गया था कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भी बिहार विधानसभा का चुनाव लड़ें। पिंटू ने कहा कि नीतीश कुमार वर्ष 1985 में ही विधानसभा का चुनाव लड़के जीत भी चुके है। उस समय चिराग पासवान दो-तीन साल के बच्चे थे। चिराग को नीतीश कुमार पर कोई भी टिप्पणी करने से पहले अपनी हकीकत देखनी चाहिए। वही, जदयू के सांसद सुनील कुमार पिंटू के बयान पर लोजपा ने भी अपनी प्रतिक्रिया दी है।

लोजपा के प्रवक्ता अशरफ अंसारी ने सुनील कुमार पिंटू पर गहरा ऐतराज जताया। उन्होने कहा जदयू में यदि हिम्मत है तो वह विधानसभा का चुनाव अकेले लड़के देख ले। जनता उन्हें जरूर सबक सिखा देगी। अंसारी ने कहा 2019 में पीएम मोदी के आशीर्वाद से सुनील सांसद बने थे, उन्हें नहीं भूलना चाहिए।

यह भी पढ़े: ड्रग्स केस में NCB का बड़ा एक्शन, दीपिका, सारा, रकुल और श्रद्धा को भेजा समन
यह भी पढ़े: चीन के विरोध में नेपाल में प्रदर्शन, ‘गो बैक चाइना’ के लगे नारे, PM ओली से साधी चुप्पी