Breaking News
Home / उत्तर प्रदेश / रामलला के वकील के. परासरन जाएंगे अयोध्या, जानिए वजह

रामलला के वकील के. परासरन जाएंगे अयोध्या, जानिए वजह

सुप्रीम कोर्ट में राम लला के पक्ष को सामने रखने वाले वकील के. परासरन सहित वकीलों की पूरी टीम अयोध्या जाने की तैयारी में है। वे सभी अयोध्या राम लला के दर्शन करने के लिए जाएंगे। भगवान रामलला मंदिर के निर्माण को लेकर मंगलवार को कोर्ट के तरफ से हरी झंडी मिल चुकी है। वकीलों की टीम फैसले की सत्यापित अपने साथ लेकर जाएगी।

रामलला के दर्शन के लिए सिर्फ वकीलों की टीम ही नहीं बल्कि उनके परिवार वाले भी उनके साथ अयोध्या रामलला के दर्शन को जाएंगे। 22 – 23 नवम्बर को सभी वकीलों और उनके परिवार वालो के अयोध्या पहुँचने की संभावना है।

Loading...

के. परासरन ने 92 वर्ष की आयु में कोर्ट में की बहस

पूर्व अटार्नी जनरल के. परासरन ने 92 वर्ष की आयु में कोर्ट में कई दिनों तक खड़े हो कर रामलला की तरफ से बहस की थी। कोर्ट में उन्हे बैठकर अपनी बहस करने की पूरी छूट दी गयी थी परंतु वे बैठे नहीं और अपनी बहस को उन्होने खड़े खड़े जारी रखा। के. परासरन का भगवान राम में अटूट विश्वास है।

सूत्रों के मुताबिक के. परासरन काफी समय से अयोध्या जा कर रामलला के दर्शन करना चाहते थे। वे फैसला खत्म करने के बाद अयोध्या जा कर दर्शन करना चाहते थे लेकिन किन्हीं कारणों से वे जाने में असमर्थ रहे परंतु अब वह 22 नवम्बर को अयोध्या जा कर दर्शन करने की तैयारी में है।

परासरन अपनी तीन पीढ़ियों के साथ जाएंगे अयोध्या

परासरन अपने पूरे परिवार के साथ अयोध्या रामलला के दर्शन के लिए जा रहे है। उनके परिवार के कुल 18 सदस्य उनके साथ दर्शन के लिए जाएंगे। सूत्र बताते है कि परासरन और उनका पूरा परिवार सीधे चेन्नई से लखनऊ और फिर अयोध्या जाएगा।

के. परासरन के साथ होगी पूरी वकीलों कि टीम

के. परासरन के साथ रामलला के ओर से पैरवी करने वाले पूरी वकीलों कि टीम भी अयोध्या जाएगी। उनके साथ वरिष्ठ वकील सीएस वैद्यनाथन, वरिष्ठ वकील पीएस नरसिम्हा, पीवी योगोश्वरन, भक्ति वर्धन सिंह और श्रीधर पोटा राजू भी अपने परिवार के साथ दर्शन करने के लिए अयोध्या जाएंगे।

वकील श्रीधर पोटा राजू, भक्तिवर्धन और पीवी योगेश्वरन सीधे दिल्ली से लखनऊ ट्रेन से और फिर वहाँ से अयोध्या कि तरफ प्रस्थान करेंगे। जबकि सीएस वैद्यनाथन 23 नवम्बर को अपने परिवार के साथ दर्शन करने जाएंगे।

रामलला की तरफ से उनके निकट मित्र त्रिलोकीनाथ ने सुप्रीम कोर्ट में अर्जी डाली थी। इन सभी के साथ त्रिलोकीनाथ पाण्डेय भी दर्शन करने के लिए जाएंगे।

 

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *