अज्ञात निमोनिया वाली चीनी दूतावास की चेतावनी को कजाकिस्तान ने किया खारिज

कजाकिस्तान ने चीनी दूतावास की उस बात को खारिज कर दिया है जिसमें कोरोना वायरस से भी खतरनाक बीमारी निमोनिया के फैलने की बात कही गई है। दरअसल, कजाकिस्तान में जून में निमोनिया से 600 से अधिक लोगों की मौत हुई थी। जिसके बाद चीनी दूतावास ने निमोनिया को कोरोना वायरस से भी खतरनाक बीमारी करार देते हुए चेतावनी जारी की थी। उसने पूर्व सोवियत ब्लाक देश में रहने वाले अपने नागरिकों को इससे बचने की चेतावनी जारी की थी।

गुरुवार को अपने वीचैट मंच पर चीनी दूतावास ने बयान जारी करते हुए कहा कि कजाकिस्तान में ‘अज्ञात निमोनिया’ ने साल के पहले छः महीनों में ही 1772 लोगों की जान ले ली है जिसमें से 628 तो सिर्फ जून में ही मरे। इन मृतकों में चीनी नागरिक भी शामिल थे। चीनी दूतावास ने इस कोरोना से भी खतरनाक बताया और कहा कि इसकी मृत्यु दर कोरोना से भी अधिक है। जिसके बाद अब कजाकिस्तान के स्वास्थ्य मंत्रालय ने चीन की सलाह को गलत बताया है।

कजाकिस्तान के स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि एक नए तरह के निमोनिया के संबंध में कुछ चीनी मीडिया द्वारा प्रकाशित जानकारी गलत है। कजाकिस्तान के स्वास्थ्य मंत्रालय ने वायरल निमोनिया की बात स्वीकार की है लेकिन इससे इनकार किया है कि यह नया और अज्ञात है।

यह भी पढ़े: चीन से कारोबार समेटगी वीडियो शेयरिंग ऐप टिकटॉक, यह है बड़ी वजह
यह भी पढ़े: फिल्म ‘कृष 4’ के लिए ऋतिक ने शाहरुख खान से मिलाया हाथ, इस किरदार की होगी वापसी