बच्चों को रखें पैकेटबंद चिप्स से दूर, नहीं तो हो जाएंगे बीमार

Bag of potato crisps

हर अभिभावक अपने बच्चे से बेहद प्यार करते हैं और शायद यही कारण है कि उसकी हर जिद को पूरा करते हैं। आज के समय में बच्चों को मार्केट में मिलने वाले पैकेटबंद चिप्स बेहद पसंद आते हैं और माता-पिता उन्हें अक्सर चिप्स दे देते हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं कि ये चिप्स आपके बच्चे के स्वास्थ्य पर हानिकारक असर डालती हैं। पैकेट बंद चिप्स से न सिर्फ आपका बच्चा, मोटापे का शिकार हो सकता है बल्कि उसे कई और बीमारियां भी घेर सकती हैं। तो चलिए जानते हैं इससे होने वाले कुछ नुकसानों के बारे में-

जो बच्चे इन चिप्स का अधिक सेवन करते हैं, वह बेहद जल्द मोटापे की गिरफत में आ जाते हैं। दरसअल, चिप्स में फैट और कैलोरीज की मात्रा काफी ज्यादा होती है। 28 ग्राम आलू चिप्स एवं 15 से 20 चिप्स में 10 ग्राम फैट और 154 ग्राम कैलोरीज होती है। 2015 में हुए एक शोध में बताया गया था कि तले हुए आलू चिप्स मोटापे की प्रमुख वजह है।

पैकेट बंद चिप्स से डाइबीटीज और हृदय से जुड़ी बीमारियां का खतरा रहता है। शोधों में यहां तक सामने आया है कि ज्यादा चिप्स खाने से कैंसर तक की बीमारी हो सकती है।

इन चिप्स में सोडियम की मात्रा काफी ज्यादा होती है जो बच्चे के लिए किसी भी लिहाज से उचित नहीं है। सोडियम की ज्यादा मात्रा शरीर में जाने से कई बीमारियां हो सकती हैं। इनमें उच्च रक्त चाप से लेकर स्ट्रोक और हार्ट एवं किडनी की बीमारी शामिल हैं। 28 ग्राम आलू चिप्स में 120 मिलीग्राम से लेकर 180 मिलीग्राम सोडियम होता है।