इन बातों का रखें खास ध्यान अगर बचना है अल्जाइमर से तो

बढ़ती उम्र में व्यक्ति को सिर्फ शारीरिक परेशानियां ही नहीं होती, बल्कि उसका मानसिक स्वास्थ्य भी प्रभावित होता है। उम्र के इस दौर में भूलने की बीमारी अर्थात अल्जाइनर होना सामान्य है। व्यक्ति के दिमाग में करीब 10 अरब न्यूरॉन्स होते हैं, जो आपस में जुड़े होते हैं। इस बीमारी में न्यूरॉन्स कमजोर हो जाते हैं। उनका आपस में जुड़ाव भी कम हो जाता है, जिससे याददाश्त कम हो जाती है। लेकिन अगर आप कुछ बातों का ध्यान रखें तो अल्जाइमर को मात दी जा सकती है। माना जाता है कि पहेलियां बूझकर, शतरंज और अन्य दिमागी खेल के साथ के स्वस्थ जीवन शैली के जरिए भूलने की बीमारी अल्झाइमर से बचा जा सकता है। तो चलिए जानते हैं इस बीमारी के लक्षण व उससे बचने के उपायों के बारे में-

  • ऐसे बचें

सिल्वर के बर्तनों में बना खाना या उबले पानी का उपयोग न करें।
तांबे के बर्तनों का उपयोग भी नहीं करना चाहिए।
किसी न किसी रूप में हल्दी का सेवन करें, इससे दिमाग में सूजन कम होती है। याददाश्त बढ़ती है।
शराब, सिगरेट से बचें। पूरी नींद लें।
तनाव से बचें। खाने में हरी सब्जी लें।
दिमागी काम के समय के ग्लुकोज की मात्रा शरीर में ज्यादा होनी चाहिए।
दिन में कुछ समय दिमागी खेल अवश्य खेंलें।

  • ऐसे करें पहचान

बहुत ही सामान्य चीजें भूल जाना।
खाना बनाना, कपड़े पहनना आदि भूलना।
रिश्तेदारों और दोस्तों को न पहचान पाना।
वाहन न चला पाना
निर्णय लेने की क्षमता कम होने लगना।