बच्चों के बुरी आदतों से दूर रखने के लिए इन बातों का जरूर रखें ध्यान

आपको बता दे की किशोरावस्था एक ऐसा समय होता है जब बच्चे अत्यधिक व्याकुल और परेशान रहते हैं। एक तरफ तो वे अपनी अलग पहचान बनाना चाहते हैं और दूसरी तरफ वे दूसरों से बहुत ही जल्दी प्रभावित भी हो जाते हैं। जैसा की आप जानते है को बच्चों के गलत व्यवहार के लिए माता-पिता हमेसा दूसरों को जिम्मेदार ठहराते हैं लेकिन वे यह भूल जाते हैं कि उनके खुद के व्यवहार का भी सीधा असर उनके युवा बच्चों पर पड़ता है। इसलिए आपको पहले अपनी आदतों पर पूर्ण्तः ध्यान देने की जरूरत है। आपको यह समझना होगा कि आप कितनी भी प्रयास कर लें लेकिन बच्चे पहले आपके शब्दों को सुनने, समझने और आत्मसात करने के पहले आपके ही कार्यों से सीखेंगे। इसलिए आदतों पर विशेष ध्यान आवश्यक है:-

हम यहां कुछ महत्वपूर्ण सुझाव दे रहे हैं जिनकी मदद से आप बच्चों को सही आदतें सिखा सकते हैं:

– बच्चों के सामने कभी भी झूठ न बोलें और न दूसरों को झूठ बोलने की राय दें। इससे वे हमेशा खुद के प्रति और दूसरों के प्रति ईमानदार रहेंगे।

– बच्चों के सामने कभी भी नियमों को न तोड़े। मसलन, लाल सिग्नल पर गाड़ी आगे न बढ़ाएं, हेलमेट और सीट बेल्ट के बिना गाड़ी न चलाएं और गाड़ी चलाते समय फोन पर बात न करें। अगर आप नियम तोड़ेंगे, तो वे भी सीखेंगे कि कभी-कभी नियम तोड़ना सही है।

– सामान्यतः ऐसा होता है कि पार्टी में बड़े लोग शराब पीते हैं और साथ में युवा लोगों को भी पीने के लिए बुलाते हैं। ऐसा करने से छोटे बच्चों को यह लगता है कि शराब और सिगरेट पीना आम बात है और वे भी इसको ट्राई करने की कोशिश करते हैं।

– दूसरों के बारे में गलत बातें करना या बुराई करना बहुत अच्छी आदत नहीं है। बच्चों के सामने दूसरों की बुराई नहीं करनी चाहिए वरना वे भी यही सीखते हैं और कभी-कभी आपको शर्मिंदगी वाली स्थिति में डाल देते हैं।