किडनी को स्वस्थ रखना है बहुत आसान,जानिए कैसे?

शरीर में पानी की कमी के चलते भी ये बीमारी होने की बहुत शिकायत होती हैं। क्योंकि पानी ही किडनी से हानिकारक पदार्थ दूर करता हैं।

प्रतिदिन डेढ़ से दो लीटर यानी तीन से चार बड़े गिलास पानी पीना चाहिए। सुबह उठते ही दो गिलास पानी पीना चाहिए और खाने के आधे घण्टे से पहले भी एक गिलास पानी पीना चाहिए। जिससे की गुर्दे की सफाई हो सकें और खाना पचाने में मदद मिले। काफी मात्रा में तरल लेने से गुर्दो से सोडियम, यूरिया और जहरीले तत्व साफ हो जाते हैं, जिससे गुर्दो के लंबे रोग पैदा होने का खतरा काफी कम हो जाता है। धूम्रपान का सेवन बिलकुल ना करें। कोई भी बीमारी हो तो अपनी मर्जी से दवाएं ना लें डाॅक्टर से परामर्श के बाद की दवाएं लें।

प्रमुख कारण डायबिटीज और ब्लड़ प्रेशर होते हैं। लेकिन क्या इससे बचने कुछ नियम भी हैं जो इस बीमारी से बचने में बहुत फायदेंमंद हो। ब्लड शूगर को नियमित रूप से नियंत्रिण में रखें, क्योंकि डायबिटीज वाले लोगों के गुर्दे क्षतिग्रस्त होने का खतरा रहता है। यह गुर्दो की क्षति का आम कारण होता हैं।

सामान्य ब्लड प्रेशर 120/80 होता है। 128 से 89 को प्रि-हाईपरटेंशन माना जाता है और इसमें जीवनशैली और खानपान में बदलाव करना होता है। सन्तुलित आहार लें और वजन नियंत्रित रखें। तले-भुने से परहेज करें, नमक का सेवन कम से कम करें। इसके लिए प्रोसेस्ड और रेस्तरां से खाना कम से कम खाएं और खाने में ऊपर से नमक न डालें। खाना ताजा ही खायें।