दिल्ली में हिंसा के बाद दो बड़े किसान संगठनों ने खत्म किया आंदोलन

किसान परेड के दौरान उपद्रवियों द्वारा की गई हिंसा के बाद आंदोलनों को खत्म किया जाने लगा है। राष्ट्रीय किसान मजदूर संगठन और भारतीय किसान यूनियन (भानु) ने नए कृषि कानूनों के खिलाफ हो रहे आंदोलन को वापस लेने का ऐलान किया है।

किसान मजदूर संगठन के नेता वीएम सिंह ने कहा कि हम लोगों को पिटवाने के लिए यहां नहीं आए हैं। देश को हम बदनाम नहीं करना चाहते हैं। वीएम सिंह ने राकेश टिकैत पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि राकेश टिकैत ने एक भी मीटिंग में गन्ना किसानों की मांग नहीं उठाई।

वहीं किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा है कि पुलिस का किसानों पर लाठीचार्ज करने का प्लान था। सरकार और पुलिस सारे घटनाक्रम के लिए जिम्मेदार है।

यह भी पढ़ें:

दिल्ली में हुई हिंसा के बाद सरकार हुई सख्त